ज्योतिष : अदभुत जीवन विश्लेषण शास्त्र | ज्योतिष ज्ञान | Jyotish Gyan

jyotish-gyan-jankari

ॐ श्री गणेशाय नमः ।। ॐ नमः पूर्वज्येभ्य:।। ॐ श्री ईष्ट देवाय नमः।। अक्सर हम यह सुनते हैं कि समय से पहले और किस्मत से ज्यादा कुछ नहीं मिलता है। हर चीज का नियत समय होता है । जिस प्रकार सूर्योदय और सूर्यास्त का समय निश्चित है, ऋतु का समय निश्चित है, और जो जन्म लेता है उसकी मृत्यु भी निश्चित है। उसी प्रकार लोगों के कर्म फल भी निश्चित है। यही कारण है कि कुछ लोगों को कठिन परिश्रम के बाद भी उपयुक्त परिणाम देर से मिलते हैं तो…

Read More

Uttarakhand current affairs In Hindi Set 13 Asked Question Paper [2020]

Uttarakhand current affairs In Hindi

21.उत्तराखण्ड के किस शहर में लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी स्थित है? [A] नैनीताल में [B] मसूरी में [C] हरिद्वार में [D] उत्तरकाशी में  उत्तर- B    22.विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान उत्तराखण्ड के किस शहर में स्थित है? [A] नैनीताल में [B] देहरादून में [C] चम्पावत में [D] अल्मोड़ा में उत्तर- D   23.औषधीय एवं सुगंधित पौध संस्थान उत्तराखण्ड के किस शहर में स्थित है? [A] पंतनगर में [B] श्रीनगर में [C] रूढ़की में [D] नरेंद्र नगर में उत्तर- A   24.राज्य पुलिस प्रशिक्षण अकादमी उत्तराखण्ड के किस…

Read More

Uttarakhand current affairs In Hindi Set 12 Asked Question Paper [2020]

Uttarakhand current affairs In Hindi

Here we have collected some important General Knowledge question related to Uttarakhand current affairs (Uttarakhand General Knowledge) which will cover Uttarakhand GK Group C exam, Utttarakhand GK LT Exam, Gk uttarakhand latest 2020, uttarakhand group d question answer, uttarakhand gk quiz  and many other competitive exam related to Uttarakhand GK. Uttarakhand current affairs In Hindi [Set 12] Asked Question Paper 1.निम्नलिखित में से स्वतंत्रता आन्दोलन के दौरान जेल जाने वाली उत्तराखण्ड की प्रथम महिला कौन थी? [A] कुंती वर्मा [B] सरला बहन [C] बिशनी देवी शाह [D] विद्यावती डोभाल उत्तर-…

Read More

Khirsu Village | खिरसू गाँव एक दर्शनीय हिल स्टेशन

khirsu-village-image

उत्तराखंड में  बसा खिरसू गाँव (Khirsu Village) उन लोगों के लिए सही है, जिन्हें लंबी पैदल यात्रा, या छुट्टी पर जाना पसंद है| खिरसू भारत के उत्तराखंड (Uttarakhand ) राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले का एक हिल स्टेशन है। खिरसू 1700 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। खिरसू अपनी दर्शनीय पृष्ठभूमि के लिए प्रसिद्ध है, इस हिल स्टेशन से हिमालय का शानदार 300 किमी चौड़ा मनोरम दृश्य देखा जा सकता है, जिसमें बर्फ से ढके त्रिशूल, नंदादेवी, नंदकोट और पंचचुली चोटियाँ शामिल हैं। खिरसू उन पर्यटन स्थलों में से एक…

Read More

Kedarnath Dham | हिमालय पर्वत की गोद में बसा केदारनाथ धाम

kedarnath-temple

केदारनाथ मन्दिर (Kedarnath Temple) भारत के उत्तराखण्ड राज्य के रूद्रप्रयाग जिले में स्थित है। उत्तराखण्ड में हिमालय पर्वत की गोद में केदारनाथ मन्दिर बारह ज्योतिर्लिंग में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक है। यहाँ की प्रतिकूल जलवायु के कारण यह मन्दिर अप्रैल से नवंबर माह के मध्‍य ही दर्शन के लिए खुलता है। पत्‍थरों से बने कत्यूरी शैली से बने इस मन्दिर के बारे में कहा जाता है कि इसका निर्माण पाण्डव वंश के जनमेजय ने कराया था। यहाँ स्थित स्वयम्भू शिवलिंग अति…

Read More

Chopta – Mini Switzerland | चोपता – एक खूबसूरत हिल स्टेशन

Chopta chandrashila choti image chopta

हिमालय की तलहटी में बसे “भारत के स्विट्जरलैंड” के नाम से प्रसिद्ध “चोपता” (Chopta) में आकर्षक प्रकृतिक नज़ारे के बीच ले ट्रैकिंग का मजा जब भी आप या कोई भी किसी छुट्टी की योजना बनाता है तो सबसे पहले उन्हें हिल स्टेशनों की ही याद आती है, ऐसे में हिल स्टेशनों पर पर्यटकों की भीड़ हो जाती है। और कभी-कभी यह आपके शांति और दुनिया से दूर प्रकृति के बीच मनाये जाने वाली छुट्टी में खलल भी डालता है। आपको नहीं लगता ऐसा? कोई बात नहीं अगर आपको कोई अलग…

Read More

Uttarakhand current affairs In Hindi Set 11 [2020]

Uttarakhand current affairs In Hindi

Uttarakhand current affairs In Hindi Set 11 Asked Question Paper Here we have collected some important General Knowledge question related to Uttarakhand GK (Uttarakhand General Knowledge) which will cover Uttarakhand GK Group C exam pdf, Uttarakhand current affairs LT Exam pdf, uttarakhand gk latest pdf 2020 and many other competitive exam related to Uttarakhand GK. उत्तराखंड सामान्य ज्ञान 1.आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान उत्तराखण्ड के किस शहर में स्थित है? [A] हरिद्वार में [B] नैनीताल में [C] पिथौरागढ़ में [D] टिहरी में उत्तर-B  2.विज्ञानधाम उत्तराखण्ड के किस शहर में स्थित…

Read More

Uttarakhand GK In Hindi Set 10 [2020]

Uttarakhand current affairs In Hindi

Uttarakhand GK In Hindi Set 10 Asked Question Paper Here we have collected some important General Knowledge question related to Uttarakhand GK (Uttarakhand General Knowledge) which will cover Uttarakhand GK Group C exam, Utttarakhand GK LT Exam, Gk uttarakhand latest 2020 and many other competitive exam related to Uttarakhand GK. उत्तराखंड के उत्तरकाशी में नेहरु पर्वतारोहण संस्थान की स्थापना कब की गई थी? [A] 1961 [B] 1963 [C] 1965 [D] 1968 उत्तर- c तारादत्त गैरोला कौन थे? [A] गायक [B] चित्रकार [C] कवि [D] अधिवक्ता उत्तर- C निम्नलिखित में से…

Read More

कुमाऊं की पांच खूबसूरत जगह | Famous Places In Kumaun

कुमाऊं की पांच खूबसूरत जगह | Famous Places In Kumaun आइए दोस्तों आज हम आपको कुछ ऐसी खूबसूरत जगहों के बारे में बताने जा रहे है, जहां आपको एक बार जरूर जाना चाहिए। देवभूमि उत्तराखंड मुख्यत दो भागों में विभक्त है। वैसे तो दोनों भाग उत्तराखंड के बेहद ही खूबसूरत हैं लेकिन आज हम आपको कुमाऊं मंडल की कुछ ऐसी ही खूबसूरत जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपने आप में बेमिसाल हैं। गर्मियों के मौसम में कुमाऊं में देश-विदेश के लोग यहां घूमने आते हैं। लोगो…

Read More

कल्पनाओं को साकार करने वाला वृक्ष : कल्पवृक्ष | KalpVriksha

दोस्तों कहा जाता है कि देवभूमि के कण कण में 33 करोड़ देवी देवता विराजमान हैं। फिर चाहे वो पत्थर, नदियां, भूमि, हवा, आकाश, पशु, पक्षी या फिर पेड़ ही क्यों ना हो। इस भूमि की अपनी मान्यताएं और अपनी आस्था है जो कि पूरे विश्व में अपनी इसी आस्था कि वजह से अपना अलग स्थान बनाए हुए हैं। दोस्तो आज हम आपको देवभूमि के ऐसे ही एक वृक्ष के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में कहा जाता है कि ये वृक्ष ना केवल मन्नतें ही पूरी…

Read More

कहाँ हैं उत्तराखण्ड का पाँचवा धाम | डोल आश्रम | Dol Ashram

Dol-Ashram-image

श्री कल्याणिका हिमालया देवस्थानम न्यास कनरा डोल आश्रम उत्तराखण्ड का पांचवा धाम जीं हां दोस्तों आपने सही सुना। उत्तराखण्ड के चारधामों से तो आप परिचित होंगे ही लेकिन क्या आपको पता हैं कि उत्तराखण्ड में एक स्थान ऐसा भी हैं जो निकट भविष्य में पांचवा धाम बनने जा रहा हैं। जी हाॅं दोस्तों उत्तराखण्ड के इस अलौकिक स्थान के बारे में जानने के लिए आप इस विडियो को भी देख सकते हें ताकि आप भी जान सकें कि उत्तराखण्ड का पांचवा धाम कौन सा हैं और इसकी क्या मान्यता हैं।…

Read More

जाने अब तक कितने हें कोरोना वायरस के चपेट में देवभूमि उत्तराखंड से ? | Corona News

corona news uttarakhand

Corona News [Uttarakhand news in Hindi] उत्तराखंड को पर्यटन स्थल के तौर पर जाना जाता है । हजारों की संख्या में देश और विदेशों से पर्यटक देवभूमि उत्तराखंड की मनमोहक वादियों में घूमने और प्रकृति के सुंदर नजारों को देखने के लिए सैप भर आते रहते हैं । लेकिन एक वायरस के चलते उत्तराखंड का पर्यटन व्यापार बुरी तरीके से प्रभावित हो रहा है क्योंकि एतिहातन उत्तराखंड लॉक डाउन कर दिया गया था । जैसा कि मालूम है कोरोनावायरस जिसे COVID 19 के नाम से भी जाना जा रहा है,…

Read More

क्या हें गोलू देवता की कहानी | Story of Golu Devta

गोलू देवता

कहा जाता हैं कि गोलू देवता, कत्यूरी राजवंश के राजा झालुराई की इकलौती संतान थे। राजा झालुराई एक न्यायप्रिय, दयालु और तेजस्वी राजा थे। राजा झालुराई की सात पत्नियाॅं थी लेकिन राजा को पुत्र रत्न की प्राप्ति किसी से भी नहीं थी। इस विचार से कि उनका वंश आगे को कौन बढाएगा राजा काफी चिंतित रहता था। इस बात से चिंतित होकर राजा ने भगवान भैरव की घोर तपस्या करी जिससे भगवान ने उनको पुत्र रत्न प्राप्ति का वरदान दिया और कहा कि तुम्हारी आठवीं पत्नि के गर्भ से मैं…

Read More

देवभूमि का ऐसा मंदिर जहां घंटी बजाना मना है

binsar temple

दोस्तों आज हम आपको लव देवभूमि उत्तराखंड के इस पोस्ट में अल्मोड़ा जिले के रानीखेत क्षेत्र में स्थित  बिनसर महादेव मंदिर (सोनी बिनसर) के बारे में जानकारी देने वाले है | दोस्तों ये मंदिर बेहद ही खूबसूरत और प्राकृतिक सौंदर्य की एक मिसाल हैं। इस मंदिर की बनावट मन को मोहने वाली हैं। चलिए जानते हैं इसके बारे में – बिनसर महादेव मंदिर बिनसर महादेव मंदिर अपने पुरातात्विक महत्व और खूबसूरती के लिए लोकप्रिय है। बिनसर महादेव मंदिर एक लोकप्रिय हिंदू मंदिर है । यह मंदिर उत्तराखंड के जिला अल्मोड़ा…

Read More

जागर का महत्व: उत्तराखंड में इनके बुलाने पर देवताओं को आना पड़ता है

जागर का महत्व

देवभूमि में जागर का महत्व उत्तराखंड ‌को ऐसे ही देवभूमि नहीं कहा जाता है। हिन्दू मान्यताओं के अनुसार समस्त 33 करोड़ देवी-देवताओं का वास यहीं है। इन सभी देवी-देवताओं का हमारी संस्कृति में महत्वपूर्ण स्थान है। कहा जाता है कि ये देवी-देवता हर कष्ट का निवारण करने के लिये किसी पवित्र शरीर के माध्यम से लोगों के बीच आते हैं और उनका कष्ट हर लेते हैं।  जागर उत्तराखण्ड के गढ़वाल और कुमाऊँ मंडलों में प्रचलित पूजा पद्धतियों में से एक है। पूजा का यह रूप नेपाल के पहाड़ी भागों में…

Read More

जाने क्या है हिन्दू नववर्ष का इतिहास

हिन्दू नववर्ष

देवभूमि उत्तराखंड में हर त्यौहार, सामाजिक कार्य और कोई भी धार्मिक कार्य बड़े उत्साह और मनोरंजन के साथ मनाया जाता है। दोस्तो अंग्रेजी नए साल के बारे में तो आप सब जानते ही होंगे, लेकिन क्या आपको अपने हिन्दू नववर्ष के बारे में पता है, यदि नहीं तो आपको ये लेख अवश्य पड़ना चाहिए। हिन्दू नववर्ष का प्रारंभ शास्त्रों में लिखा है कि जिस दिन सृष्टि का चक्र प्रथम बार विधाता ने प्रवर्तित किया, उस दिन चैत्र शुदी १ रविवार था। हिन्दू नववर्ष अंग्रेजी माह के मार्च – अप्रैल में…

Read More

” भिटौली ” उत्तराखंड की एक विशिष्ट परंपरा

भिटौली

वास्तव में उत्तराखंड एक बेमिसाल राज्य है। यहां मनाए जाने वाले हर त्यौहार के पीछे इसकी कोई ना कोई लोक कथा जरूर होती है या उस त्यौहार का सीधा संबंध प्रकृति से होता है। यहां पर कई अनोखी और विशिष्ट परंपराएं हैं। अनेक अनूठी परंपराओं के लिए पहचाने जाने वाले उत्तराखण्ड राज्य में मायके -ससुराल के प्रेम की एक अनूठी ‘भिटौली’ देने की प्राचीन परंपरा है। पहाड़ में सभी विवाहिता बहनों को जहां हर वर्ष चैत्र मास का इंतजार रहता है, वहीं भाई भी इस माह को याद रखते हैं…

Read More

प्रसिद्ध कुमाऊनी और गढ़वाली मुहावरे [Latest 2020] | Pahari Muhavare

कुमाऊनी और गढ़वाली मुहावरे pahari muhavare

Pahari Muhavare दोस्तो  जेसे की लवदेवभूमी साइट का असली मकसद हैं, उत्तराखंड की परंपरा, धार्मिक मान्यता, भाषा,  संस्कृति, रीति रिवाज और पर्यटन जैसे सभी खूबसूरत एवं परंपरागत विधाओं को देश विदेश तक पहुंचाना है। इसी की ओर एक कदम बढ़ाते हुए आज हम आपके लिए उत्तराखंड की प्रसिद्ध और सुनने में खूबसूरत लगने वाली बोली पहाड़ी, कुमाऊनी और गढ़वाली भाषा के कुछ प्रसिद्ध मुहावरे लाए हैं, जिनका अपना महत्व है – आपण-मैतक-ढूँग-लै-प्यार हूँ। हिंदी अर्थ – अपने मायके का पत्थर भी प्यारा लगता है। अफणी देलिक कुकुर लेक भली हुँ…

Read More

लंबकेश्वर महादेव जहाँ लंकेश कर बैठा अपनी सबसे बढ़ी भूल

Lambkeswar

जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है कि इस महादेव के स्थान का लंका के राजा लंकेश यानी रावण से कुछ ना कुछ संबंध जरूर होगा। जी हां आप लोग सही सोच रहे हैं। दोस्तो मैंने जब इस जगह या स्थान के बारे में सुना तो मुझे भी बड़ा आश्चर्य हुआ कि महादेव का ऐसा स्थान कहा हैं और इसकी क्या मान्यता हैं और जब मैने इसके बारे में जानकारी जुटाई तो सच में दोस्तों मैं स्तब्ध रह गया और मैंने उसी समय सोच लिया था कि मैं…

Read More

जानिए क्यों मनाया जाता है उत्तराखंड का फूलदेई पर्व

PhoolDai

फूलदेई पर्व उत्तराखंड की धरती पर ऋतुओं के अनुसार कई अनेक पर्व मनाए जाते हैं । यह पर्व हमारी संस्कृति को उजागर करते हैं। वहीं पहाड़ की परंपराओं को भी कायम रखे हुए हैं । इन्हीं खास पर्वो में शामिल “फूलदेई पर्व” उत्तराखंड में एक लोकपर्व है | उत्तराखंड में इस त्योहार की काफी मान्यता है | इस त्योहार को फूल सक्रांति भी कहते हैं। जिसका सीधा संबंध प्रकृति से है । इस समय चारों ओर छाई हरियाली और नए-नए प्रकार के खिले फूल प्रकृति की खूबसूरती में चार-चांद लगा…

Read More