देवभूमि प्रतिभाएं

क्या आप जानते हैं टीवी सीरियल और फ़िल्मों में विभिन्न किरदार निभाने वाले उत्तराखंड के सुधीर पांडे जी को ?

सुधीर पांडे इन दिनों भारतीय फिल्म और टेलीविजन सीरियल में अभिनेता के तौर पर जाने जाते हैं । इन्होंने न सिर्फ हिंदी बॉलीवुड सिनेमा में बल्कि टीवी सीरियल में भी खूब नाम और सम्मान कमाया है । ये अपनी दमदार आवाज, दमकते चेहरे और जबरदस्त सादगी भारी एक्टिंग के दम पर अपनी एक अलग पहचान सिनेमा जगत में बना लिए ।
सुधीर पांडे जी अपने बुजुर्गों वाले के किरदार के लिए जाने जाते हैं । इनका मानना है कि हीरो का काम होता है कि वह किसी भी किरदार में अपने आप को ढाल ले । इनका मानना है कि अपनी उम्र के हिसाब के रोल को निभा पाना तो बहुत आसान होता है लेकिन अपनी उम्र को मात दे कर कोई किरदार निभाना थोडा चैलेंजिंग होता है और वही असली एक्टिग होती है ।

सुधीर पांडे

Image source: Google search

सुधीर पांडे का जन्म उत्तराखंड के काशीपुर शहर में 22 दिसंबर 1940 को हुआ था । सुधीर पांडे के पिता देवकीनंदन पांडे ऑल इंडिया रेडियो के जाने-माने समाचार वक्ता थे । ऑल इंडिया रेडियो को ही आकाशवाणी के नाम से भी जाना जाता है । चूंकि इनके पिता जी आल इंडिया रेडियो दिल्ली में थे, इसलिए इनका परिवार दिल्ली आ गया, इनकी परवरिश और पढ़ाई – लिखाई दिल्ली में हुई । लेकिन इसके बावजूद अपने गाँव और पहाड़ से इनका नाता हमेशा बना रहा । छुट्टियों के दिन में ये अपने गांव दादी के यहाँ अल्मोड़ा जाया करते थे और वहां पहाड़ो पर घूमने और ट्रैकिंग का मजा लिया करते थे । सुधीर पांडे जी को ट्रैकिंग का शौक भी था । बात अगर इनके परिवार की करे तो ये अपने परिवार के बेहद करीब रहे है । ये शादीशुदा हैं लेकिन उनकी पत्नी का नाम ज्ञात नहीं है ।

सुधीर पांडे शान फिल्म के जरिए बॉलीवुड में डेब्यू किया था और सीरियल “बुनियाद” से टेलीविजन की दुनिया में कदम रखा था ।इनको टीवी सीरियल और फिल्म दोनों जगह बेहद पसंद किया जाता है । इन्होंने कई सारी फिल्मों और टीवी सीरियल में काम किया है, जिसमें अगर हम बात करें टीवी सीरियल की तो ‘मायका’, ‘ससुराल गेंदा फूल’, ‘बालिका वधू’, ‘देखो मगर प्यार से’, ‘ये शादी नहीं हो सकती’, ‘मेरे आंगन में’ जैसे सीरियल शामिल है जिसमें उन्होंने काम किया है । “मेरे आंगन में” सीरियल में सुधीर पांडे ने ‘दद्दू जी’ के रूप में शांति के बहनोई, राघव – सरला के ‘चाचा जी’ का किरदार निभाया है ।

सुधीर पांडे जी को विशेष पहचान फिल्म “मातृभूमि : नेशन विदाउट वीमेन” में और टीवी सीरियल “अमानत” और “बालिका वधु” से मिली ।

फिल्मी सफर –

Image source: Google search

सुधीर पांडे ने हिंदी सिनेमा में 1980 में “शान” फिल्म के जरिए डेब्यू किया था । सुधीर पांडे की अभी 2020 में आई फ़िल्म का नाम है “फैमिली ऑफ ठाकुरगंज” । इसके अलावा शाहिद कपूर और श्रद्धा कपूर की फिल्म “बत्ती गुल मीटर चालू” 2018 में भी उन्होंने काम किया है । अक्षय कुमार की फिल्म “टॉयलेट : एक प्रेम कथा” में इन्होंने अक्षय कुमार के पिता का दमदार किरदार निभाया है । टॉयलेट : एक प्रेम कथा में इन्होंने एक बुजुर्ग ब्राह्मण का किरदार निभाया है । इस फ़िल्म में उन्होंने टॉयलेट के प्रति गाँव के बुजुर्गों की सोच को बखूबी चरितार्थ किया है ।

सुधीर पांडे ने शान फिल्म के बाद सात चक्र, धुन, शक्ति, ये नज़दीकियां, सागर, झंझार, बेनाम बादशाह, गोला बारूद, काला बाजार, भ्रष्टाचार, मैं आजाद हूं, कॉलेज गर्ल, दयावान, खूनी पंजा, वीरगति, मैं माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं,हासिल, मातृभूमि, अनवर, तीस मार खाँ, जर्नी बॉम्बे टू गोवा, बॉम्बे टॉकीज, देख तमाशा देख, इश्क, इक्कीस तोपों की सलामी, टॉयलेट : एक प्रेम कथा, बत्ती गुल मीटर चालू, फैमिली ऑफ ठाकुरगंज शामिल है ।

टीवी सीरियल –

सुधीर पांडे

Image source: Google search

सुधीर पांडे ने टीवी सीरियल “बुनियाद” के जरिए 1986 में डेब्यू किया था । इन्होंने मुंबई ब्लू, हम सब एक हैं, हम साथ साथ है, देखो मगर प्यार से, बालिका वधू, ससुराल गेंदा फूल, मायका, अमानत, गन वाले दुल्हनिया ले जाएंगे,हमको तुमसे हो गया है प्यार क्या करें, बेलन वाली बहू जैसे टीवी सीरियल में भी काम किया है । बालिका वधू, ससुराल गेंदा फूल, मायका जैसे सीरियल के जरिये इनके अभिनय को घर घर को सराहा गया और पहचान मिली । साल 2019 में सुधीर पांडे ने “इशारों इशारों में” और साल 2018 में “बेलन वाली बहू” में काम किया था ।

सुधीर पांडे “लीव मी अलोन” टाइगर प्रोजेक्ट जोकि ‘एशियन सेंचुरी’ का प्रोजेक्ट है, उसके सदस्य हैं । यह प्रोजेक्ट बाघों के संरक्षण से संबंधित है । इन्होंने टाइगर प्रोजेक्ट से जुड़ कर देशवाशियों को एक संदेश देते हुए कहा कि खूब तरक्की करो लेकिन जंगलो से छेड़छाड़ न करो, उन्हें वही रहने दो ।

अवार्ड –

सुधीर पांडे

Image source: Google search

सुधीर पांडे को 2010 में स्टार प्लस के सीरियल “ससुराल गेंदा फूल” के लिए “स्टार परिवार अवार्ड फार फेवरेट बुजुर्ग” से नवाजा गया था । साल 2013 में कलर्स टीवी के सीरियल “बालिका वधू” के लिए इन्हें “गोल्डन पेटल अवार्ड मोस्ट चाहिता पर्सनालिटी” का अवार्ड मिला था ।

आप को हमारा यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और आपका कोई सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बनाये ।
आगे पढ़े उत्तराखंड (पिथौरागढ़) के बहादुर हेमंत पांडे का दिलचस्प सफ़रनामा

Read More From https://en.wikipedia.org/wiki/Sudhir_Pandey


Piyush Kothyari

Founder of Lovedevbhoomi, Creative Writer, Technocrat Blogger

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!