उत्तराखंड (पिथौरागढ़) के बहादुर हेमंत पांडे का दिलचस्प सफ़रनामा

हेमंत पांडे

क्रिश फ़िल्म के हीरो हृतिक रोशन से सभी परिचित है । क्रिश फ़िल्म में एक किरदार ‘बहादुर’ नाम का था, जिसने बच्चों और बड़ो का खूब मनोरंजन किया था । क्रिश फ़िल्म के बहादुर और टीवी सीरियल ‘नीर भरे तेरे नैना देवी’ के ‘घसीटा’ का किरदार निभाने वाले हेमंत पांडे का संबंध उत्तराखंड के पिथौरागढ़ से रहा है ।

हेमंत पांडे
Source: Google Search

परिचय –

हेमंत पांडे का संबंध देवभूमि उत्तराखंड के पिथौरागढ़ ज़िले से है । इनका जन्म 1 जुलाई 1970 को उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में हुआ था । इनके परिवार वाले और दोस्त इन्हें प्यार से “हेमू” बुलाते हैं । उनकी पहचान बॉलीवुड के एक एक्टर के रूप में है ।

हेमंत पांडे को हिंदी सिनेमा में विशेष पहचान 2006 में आई फिल्म ‘कृष’ से मिली, जिसमें उन्होंने बहादुर नाम का किरदार निभाया है । इन्होंने टीवी सीरियल में एक्टिंग के अलावा कई फिल्मों में भी काम किया है। बचपन से ही इनको एक्टिंग में रुचि थी । इन्होंने अपने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि वे ‘जॉनी लीवर’ और ‘जॉनी वॉकर’ को देखते हुए बड़े हुए हैं । इसलिए यह भी कहा जा सकता हैं कि इन पर जॉनी लीवर और जॉनी वॉकर का उस समय असर रहा होगा जिसकी वजह से कॉमेडी और एक्टिंग में उन्हें दिलचस्पी हुई होगी ।

हेमंत पांडे का बचपन उत्तराखंड ( पिथौरागढ़ ) में ही बीता है । ये पिथौरागढ़ में ही पले बढ़े हैं । ये अपने स्कूल और कॉलेज के टाइम तक कई सारे नुक्कड़ नाटकों और थियेटर नाटकों में एक्टिंग किया करते थे । अपनी पढ़ाई उत्तराखंड में पूरी करने के बाद, इन्हें जब लगा कि उत्तराखंड में इनके सपने पूरे नही हो सकते तो ये दिल्ली गये ।

हेमंत पांडे का उत्तराखंड (पिथौरागढ़) से दिल्ली जाने का सफर बड़ा दिलचस्प है । उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था कि उत्तराखंड में उनके यहाँ मार्च के महीने में परिवार की शादीशुदा बेटी को उपहार भेजने की एक रस्म है । इसी सिलसिले में वे अपनी मां के साथ बहन से मिलने दिल्ली जा रहे थे । इसी दौरान उन्हें लगा कि यह उनके लिए एक मौका है अपने सपने को सच करने का । तब उन्होंने अपनी मां से कहा था “अब मैं वापस घर (पिथौरागढ़)नहीं आऊंगा” । यह उनके लिए घर से निकलने और अपने सपनों का पीछा करने का एक अवसर जैसे था । इसी दौरान दिल्ली में इनका चुनाव नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा रिपोटरी में हो गया था, जहां पर उन्होंने लगभग ढाई साल तक काम किया।

hemant pandey image
Source: Google Search

हेमंत पांडे को पहला ब्रेक १९९६ में जनमाध्यम और अल्लारिपु नाम के एनजीओ द्वारा मिला, जो विशेष रूप से महिलाओं के लिए काम करने वाला संगठन था । इन्होने रंगमंच, टेलीविजन और फिल्मों में अभिनय के लगभग सभी क्षेत्रों में काम किया है ।

हेमंत पांडे की पत्नी का नाम पुष्पा पांडे है और ये एक शादीशुदा खुशहाल जिंदगी जी रहे हैं और उनकी शादी को 18 साल हो चुके हैं, उनके दो बेटे भी हैं ।

टेलीविजन केरियर –

hemant pandey image
Source: Google Search

हेमंत पांडे ने 1996 में टीवी सीरियल “ताक झांक” के साथ अपने टेलीविजन कैरियर की शुरुआत की थी, जिसमें उन्होंने धर्मेश व्यास और हेमंत केवानी के साथ एक ऐसे व्यक्ति का किरदार निभाया है जो आईएएस अधिकारी बनना चाहता था । इसके बाद इन्होंने “क्या बात है” और “राशि विला” जैसे सीरियल में भी काम किया ।

hemant pandey image
Source: Google Search

हेमंत पांडे को टीवी पर पापुलैरिटी “ऑफिस ऑफिस” शो से मिली जो कि 2000 में शुरू हुआ था । इस सीरियल के साथ वे पांडे जी के किरदार में घर घर जाने जाने लगे । इसके अलावा टीवी पर “श्रीमती मालिनी अय्यर” नाम के शो में भी इन्होने महत्वपूर्ण किरदार निभाया था । इन्होने 1999 में ‘हेरा फेरी’, २००४ में ‘तमन्ना हाउस’ में और 2010 में ‘नीर भरे तेरे नैना देवी’ नाम के टीवी शो में काम किया ।

‘नीर भरे तेरे नैना देवी’ सीरियल में हेमंत पांडे ने ‘घसीटा’ का किरदार निभाया है । घसीटा एक आम ग्रामीण है और गांव के अन्य लोगों की तरह वह भी गरीबी से जूझ रहा होता है । घसीटा अपने परिवार में रोटी का प्रबंध करने वाला अकेला आदमी होता है । एक बार उसे एक मौका मिलता है अमीर आदमी बनने का, वह भी अपनी बेटी लक्ष्मी की वजह से । वह अपनी बेटी को देवी के रूप में गांव वालों के सामने पेश करके, गांव वालों को बेवकूफ बनाने लगता है और देवी के नाम पर जो पैसा कमाता है, वह उसे अपनी जेब में रख लेता है । जैसे-जैसे धन बरसने लगता है समय के साथ गांव में घसीटा का कद बढ़ जाता है और उसकी जीवनशैली में बदलाव आ जाता है । गांव वाले उसका सम्मान करने लगते हैं और समय के साथ घसीटा को खुद पर घमंड हो जाता है और खुद को वह गांव का सबसे शक्तिशाली आदमी समझने लगता है । वह लालची और चतुर होता है ।

इन दिनों हेमंत पांडे को सोनी टीवी पर आने वाले रियलिटी शो “कहानी कॉमेडी सर्कस की” में स्टैंडअप कॉमेडियन के रूप में देखा जा सकता है ।

फिल्मी सफर –

हेमंत पांडे
Source: Google Search

हेमंत पांडे ने 1999 में एक तमिल फिल्म “मोनालिसा एन मोनालिसा” में काम किया था । इसके बाद हिंदी सिनेमा बॉलीवुड में हेमंत पांडे में 2000 में आई फिल्म “मुझे कुछ कहना है” से डेब्यू किया । इसके बाद “रहना है तेरे दिल में”, “आप मुझे अच्छे लगने लगे”, “बधाई हो बधाई”, “फरेब” जैसी फिल्मों में भी इन्होने काम किया । 2006 में आइ फिल्म ‘कृष’ में इन्होने “बहादुर” का किरदार निभाया और इसी के साथ बॉलीवुड में इन्हें एक विशेष पहचान मिल गई ।

हेमंत पांडे जी कृष में निभाए बहादुर के किरदार को अपना पसंदीदा किरदार भी कहते हैं । इसके बाद इन्होंने कई सारी फिल्म, जिसमें ‘डिटेक्टिव नानी’, ‘वक्त’, ‘संकट सिटी’, ‘कालो’, सलमान खान की फिल्म ‘रेडी’, ‘बिन बुलाए बाराती’ ‘चला मुसद्दी ऑफिस – ऑफिस’, ‘बी केयरफुल’, ‘मछली जल की रानी’, ‘2 नाइट सोल वैली’, ‘यारियां’, ‘दिल तो दीवाना है’,’बैंडिट क्वीन’, ‘मिलेंगे मिलेंगे’ में काम किया है । ‘क्रिस’ और ‘बैंडिट क्वीन’ में इनके किरदार को दर्शको द्वारा सबसे ज्यादा सराहना मिली है ।

हेमंत पांडे ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि बॉलीवुड में सफलता की कोई गारंटी नहीं होती है और आजीविका चलाने के लिए उन्होंने कई बार ऐसे किरदार भी निभाये हैं जो उन्हें पसंद नहीं थे । कभी-कभी सब कुछ भाग्य और मेहनत पर निर्भर करता है । यह सच है कि हेमंत पांडे ने अपने मेहनत के दम पर आज बॉलीवुड में अपनी एक अलग पहचान बना ली है ।

हेमंत पांडे
Source: Google Search

हेमंत पांडे सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर काफी सक्रिय रहते हैं और फिल्म की शूटिंग, अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ ली गई तस्वीरों के अलावा समय-समय पर अपने जन्मभूमि से जुड़ी यादें और बातें भी सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं। एक बार उत्तराखंड में अपने ननिहाल के बारे में उन्होंने पोस्ट करते हुए लिखा

“मेरे मलकोट (नैनिहाल) ग्राम छाना के देवता मोष्टयामानू , पिथौरागढ़ के प्रांगण मे शूटिंग करने का अवसर प्राप्त हुआ , इस मेले से बचपन की कई यादें जुड़ी हैं, आज से लगभग 34 वर्ष पहले जब मैं 9 वीं क्लास मे पड़ता था ,मैने इस मेले में अपने गाँव पाभें से पीठ मे नाशपाती लाद कर यहाँ दुकान खोली, दोस्तों ….सच बताऊं एक भी नाशपाती नही बिकी , क्योंकि कोई तब नाशपाती खरीदकर खाता ही नही था, क्योंकि हर घर मे नाशपाती के पेड़ थे …total loss..”

पिछले साल हिंदुस्तान द्वारा चलाए गए प्रोग्राम “हिमालय बचाओ पॉलीथिन हटाओ” को हेमंत पांडे ने सपोर्ट किया था और लोगों से पॉलिथीन का प्रयोग न करने की अपील करते हुए वीडियो जारी किया था जिसमें उन्होंने हिमालय के संरक्षण में सबको भागीदारी करने और कूड़ा – कचरा इधर-उधर ना फेंकने की सलाह दी थी।

अभी हाल में ही हेमंत पांडे का एलबम उत्तराखंड से जुड़े गीत पर, ‘उत्तराखंड की खुशबू’ रिलीज हुआ । इस गाने को इस लिंक उत्तराखंड तेरी ख़ुशबू पर क्लिक कर के सुना जा सकता है ।

इन दिनों हेमंत पांडे की आने वाली फिल्म ‘लखनवी इश्क’ की शूटिंग चल रही है । अगर बात करे इनकी आगे आने वाली फिल्म के बारे में तो, इसमें ‘वाहताज’, ‘फ्लेम’, और ‘चल गुरु हो जा शुरू’ जैसी फ़िल्में शामिल है है जिसमे हेमंत पांडे जी मुख्य भूमिका में नज़र आएंगे ।

पुरस्कार –

Pandey ji
Source: Google Search

अभी पिछले साल हेमंत पांडे को ‘दादा साहब फाल्के आइकॉन अवार्ड’ से नवाज़ गया था ।

आप को हमारा यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और आपका कोई सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बनाये ।

आगे पढ़े..

Related posts

Leave a Comment