जाने कैसे उत्तराखंड में गुलाब की खेती से होगी बंपर कमाई | Rose Farming in Hindi

Rose Farming in Hindi

जाने कैसे उत्तराखंड में गुलाब की खेती से होगी बंपर कमाई | Rose Farming in Hindi

आप सभी जानते हैं हमारा उत्तराखंड पहाड़ी इलाका जो भारत के उत्तरी भाग में स्थित है और पहाड़ी इलाकों में फूलों की खेती करना बहुत ही आसान होता है। हमारे उत्तराखंड के किसान और युवा चाहे तो गुलाब की खेती आसानी से कर सकते हैं और जिन लोगों के पास जमीन नही है वो भी लीज पर जमीन लेकर खेती कर सकते हैं और अपनी अच्छी इनकम शुरू कर सकते है।

चलिए जानते हैं गुलाब की खेती करने के लिए हमें किन किन चीजों का ध्यान रखना पड़ता है।

1.) गुलाब की खेती के लिए किस तरह का तापमान और वायु की जरूरत होती है

किसान जब भी गुलाब की खेती करें तो उन्हें हमेशा ये ध्यान रखना होगा कि गुलाब की खेती के लिए ठंड और शुष्क जलवायु सही रहता है इसीलिए हमारे उत्तराखंड में सबसे ज्यादा गुलाब की खेती की जाती है क्योंकि यहां का मौसम शुष्क रहता है और गुलाब की खेती ज्यादातर पहाड़ी इलाका में अच्छे से होती है गुलाब की खेती के लिए तापमान कम से कम 26 से 30 डिग्री सेंटीग्रेट और रात का तापमान 11 से 13 डिग्री सेंटीग्रेट अच्छा रहता है।

2.) गुलाब की खेती के लिए हमें किस तरह का भूमि की चयन करना होगा

Agriculture, Green, Rice, Asia, uttarakhand, Rose Farming in Hindi

जब भी किसान गुलाब की खेती करते हैं तो उन्हें खेतों को लेकर टेंशन लेने की जरूरत नहीं होती है क्योंकि गुलाब की खेती जो है वह सभी मिट्टी में की जाती है लेकिन एक बात का उन्हें जरूर ध्यान रखना चाहिए कि जिस मिट्टी में हुयूम्स की मात्रा हो वो मिट्टी गुलाब की खेती के लिए ज्यादा अच्छी होती है।गुलाब की खेती हमेशा ऐसे खेत में करना चाहिए जहां पर धूप आती हो छायादार जगह बिल्कुल ही नहीं होना चाहिए अगर छायादार होगा तो वहां पर पौधे का विकास नहीं हो सकता है। इन सब चीजों का ध्यान हमेशा किसान को रखना चाहिए।

3.) गुलाब के पौधों की किस्म का चयन

किसान जिस तरह किसी फसल के बीज को बोता है उससे पहले बीज के उत्तम किस्म का चयन करता है ताकि फसल अच्छा हो, उसी तरह गुलाब के पौधे को लगाने से पहले गुलाब के उत्तम किस्म का चयन कर लेना चाहिए। जिससे कि गुलाब का फूल अच्छा खिले सके।

4.) गुलाब के पौधे को किस तरह तैयार किया जाता है

जैसा कि हम सभी जानते हैं गुलाब के पौधों की कलम जून या जुलाई महीने में लगा दिया जाता है जब भी पौधे में कलम लगाया जाए तो इन बातों का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि कलम को क्यारी में 15 सेंटीमीटर की दूरी पर लगाया जाऐ उसके बाद जब भी कलम की शाखाएं निकलने लगती है तो उन्हें पेङ से काट कर हटा दे उसके बाद एक पॉलिथीन में मिट्टी भर के उस गुलाब की टहनी को बांधकर रख दे और थोड़े दिन के लिए छोड़ दे तो उसे एक नया पौधा तैयार हो जाता है।

Rose, Scenery, Trees, Artistic, Art Print, Rose Farming in Hindi

5.) गुलाब के पौधे को लगाने का समय और तरीका

गुलाब के पौधे का रोपण करते समय ख़ास ध्यान रखना चाहिए. सबसे पहले पौधे को भूमि से लगभग 15 सेंटीमीटर ऊपर लगा दें. पौधे की रुपाई करते समय पोलीथिन को काटकर हटा दें, ध्यान रखे कि पोलीथिन को हटाते समय पोलीथिन में भरी मिट्टी नहीं टूटनी चाहिए. इसके बाद खेत की मिट्टी को चारों तरफ से ठीक से दबा दें

6.) गुलाब के फूलों की सिंचाई करने का तरीका

जब भी किसान गुलाब की खेती करता है तो उन्हें एक बात का ध्यान हमेशा रखना चाहिए जब गुलाब के पौधे खेत में लगाए जाते हैं तो उन्हें तुरंत ही सिंचाई कर देना चाहिए। अगर सर्दी के मौसम में किसान गुलाब के पौधों को लगाते हैं तो सप्ताह में कम से कम एक बार पौधे में पानी जरूर देना चाहिए और अगर गर्मी के मौसम में पौधे लगाते हैं तो 3 से 4 दिन बाद पौधे में पानी देना चाहिए जिससे कि पौधा बिल्कुल ही ना सूखे।

Pink Petaled Flowers

7.) गुलाब के फूलों की निराई और गुड़ाई कब करनी चाहिए

अगर किसान चाहते हैं कि गुलाब के फूलों की पैदावार बहुत अच्छी हो तो इसके लिए पौधे के लिए सबसे पहले निराई और गुड़ाई करना बहुत ही जरूरी होता है। अगर पौधे की निराई और गुड़ाई करते हैं तो हमारा पौधा बहुत अच्छा बनता है और इससे फूलों की पैदावार भी अच्छी होती है और इसकी टहनियां में अच्छे से कलम भी लगा सकते हैं क्योंकि निराई और गुड़ाई करने के बाद गुलाब की पौधों की शाखाएं जो है वह बहुत अच्छी निकलने लगती है।गुलाब के पौधों में हमेशा पानी की मात्रा ज्यादा रहनी चाहिए इसीलिए हमें गुलाब के पौधों में ज्यादा पानी देना चाहिए जिससे कि पौधे का विकास हो सके और जिस पौधे का विकास अच्छी तरह से होता है तो हम उस पौधे की निराई और गुड़ाई तीन चार महीने बाद कर सकते हैं।

8.) गुलाब के फूलों की तुड़ाई और छटाई कब करनी चाहिए

जिस तरह से फसलों को काटने का समय होता है उसी तरह गुलाब की खेती करने पर गुलाब के फूलों का भी तोड़ने का समय होता है जब भी गुलाब का फूल खिलने लगता है तो एक बात का ध्यान रखना चाहिए जब फूल की एक या दो पंखुडियां खिल जाए, तो फूल को पौधे से तौड़ लेना चाहिए, गुलाब का फूल तोड़ने के लिए एक चाकू या ब्लेड जरूर रखें क्योंकि गुलाब के फूल में बहुत सारे कांटे होते हैं जो कि हाथों में छुप जाते हैं और जब भी फूल तौड़े तो फूल तोड़ कर उसे पानी से भरे बाल्टी में रख दें क्योंकि अगर आप इस तरह से करते हैं तो आप का फूल बिल्कुल ही खराब नहीं होगा।

Red Rose, Rose, Rose Bloom, Blossom, Bloom, Flower, Red,Rose Farming in Hindi

9.) जाने किस तरह होगी गुलाब के फूलों की अच्छी पैदावार

गुलाब की खेती करने से किसानों को बहुत ज्यादा मुनाफा होता है जैसा कि हम सभी जानते हैं गुलाब जो है वह कम से कम 4 महीने में फूल देना स्टार्ट कर देता है अगर किसान एक ऐकङ मे गुलाब का फूल लगाता है तो कम से कम 40 से 50 केजी फूल खिलता है जिसको बाजार में बेचने से 60 से ₹70 प्रति किलो के हिसाब से किसान फूल को बेचता हैं एक पौधे में कम से कम 10 से 20 फूल निकलते हैं तो आप सोच सकते हैं कि किसान की सालाना कमाई कितनी होती है ।

10.) गुलाब की खेती मे किसान किस तरह से इनकम कर सकते हैं

गुलाब की खेती मे कम पैसे लगाकर किसान ज्यादा मुनाफा कर सकते हैं अगर किसान चाहे तो उसी कलम को नर्सरी खोलकर लोगों के बीच में बेच कर अपना अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

क्योंकि आजकल लोग अपने घरों की छतों पर गुलाब का फूल लगाते हैं घर -आंगन में गुलाब का फूल गमले में लगाते हैं तो इस तरह से गुलाब के फूलों के साथ-साथ गुलाब के पेड़ों की भी मांग बढ़ती ही जा रही है और इससे अच्छी कमाई भी हो जाती है।

हम लोग देख रहे हैं कि आजकल बाजार में गुलाब की फूलों की मांग बहुत ज्यादा हो रही है क्योंकि आजकल लोग जन्मदिन, सालगिरह, वैलेंटाइन डे और मदर्स डे जैसे शुभ अवसर पर गुलाब के फूलों से ज्यादा सजावट करते हैं। अगर किसान अपने गुलाब के फूलों के लिए इन सब जगह से आर्डर लेता है तो उन्हें अच्छा इनकम हो सकता है।

इसके अलावा अगर किसान चाहे तो गुलाब के फूल की पंखुड़ियों से गुलाब जल, इत्र एवं गुलकन्द गुलाब का तेल यह सब बनाकर भी अपना व्यापार शुरू कर सकते हैं इन सब से भी काफी आमदनी होती है।


अगर युवा और किसान गुलाब की खेती करना चाहे तो उनके पास अगर पैसे नहीं है तो वो बैंक से लोन भी ले सकते हैं क्योंकि सरकार खेती करने के लिए 50 फीसदी सब्सिडी पर लोन भी देता है ।अगर किसान और युवा चाहे तो वो गुलाब की खेती कर सकते हैं और गुलाब की खेती से किसान को अच्छी आमदनी होने लगेगी उसके बाद किसान धीरे-धीरे अपना कर्ज बैंक को वापस भी कर सकते है।

Reference : Krishijagran


अगर आपको यह पोस्ट  पसंद आई हो तो कृपया शेयर और कमेंट करें|

आगे पढ़े

Related posts

Leave a Comment