देवभूमि सौंदर्य

Khirsu Village | खिरसू गाँव एक दर्शनीय हिल स्टेशन

उत्तराखंड में  बसा खिरसू गाँव (Khirsu Village) उन लोगों के लिए सही है, जिन्हें लंबी पैदल यात्रा, या छुट्टी पर जाना पसंद है| खिरसू भारत के उत्तराखंड (Uttarakhand ) राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले का एक हिल स्टेशन है। खिरसू 1700 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। खिरसू अपनी दर्शनीय पृष्ठभूमि के लिए प्रसिद्ध है, इस हिल स्टेशन से हिमालय का शानदार 300 किमी चौड़ा मनोरम दृश्य देखा जा सकता है, जिसमें बर्फ से ढके त्रिशूल, नंदादेवी, नंदकोट और पंचचुली चोटियाँ शामिल हैं।

Khirsu in Snow
Khirsu in Snow (Photo Credit: Rachna Society)

खिरसू उन पर्यटन स्थलों में से एक है , जो की वर्तमान समय में एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन के रूप में प्रसिद्ध है खिरसु उत्तराखंड राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले में स्थित एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन है | यह एक रमणीक स्थल है । खिरसु असल में एक गांव है , जिसे उत्तराखंड राज्य बनने के बाद पर्यटन स्थल का दर्जा दिया गया । खिरसू समुन्द्रतल से लगभग 1700 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है लेकिन यह स्थान लैंसडाउन की तुलना में ज्यादा ठंडा है क्योंकि पूरा गांव उच्च पहाड़ियों और घने जंगल (देवदार और ओक) से घिरा हुआ है

khirsu village
source : Google Search

खिरसू हिल स्टेशन में ओक के पेड़, देवदार के पेड़ और सेब के बगीचे हैं | इस स्थान के एक कोने से दुसरे कोने तक देखने पर ऊँच पहाड़ी , घने जंगल और कई अन्य जगहों का आनंद ले सकते है | यह जगह पर्यटकों के बीच कभी भी बहुत लोकप्रिय नहीं रही थी , बल्कि समय के साथ-साथ और पर्यटकों द्वारा ठंडी, सुखद और प्रदूषण मुक्त वातावरण की तलाश के कारण यह जगह एक बहुत ही लोकप्रिय और प्रसिद्ध पहाड़ी स्थल के रूप में उभर कर सामने आई और वर्तमान में इस स्थान को प्रसिद्ध हिल स्टेशन के रूप में पहचान मिली | अब यह जगह उत्तराखंड में सबसे प्रतिष्ठित जगहों में से एक है |

खिरसू की आधिकारिक भाषा (Language of Khirsu Village)

खिरसू की मूल भाषा हिंदी, संस्कृत है और गाँव के अधिकांश लोग हिंदी, संस्कृत बोलते हैं।

खिरसू के पास कौन से होटल हैं? (Hotels near Khirsu Village)

  1. जीएमवीएन खिरसु
  2. वी रिसॉर्ट्स मुमुक्षु पौड़ी
  3. आइवीटॉप रिजॉर्ट
  4. हिमालयन इको लॉज एंड कैंप, जयलगढ़
  5. होटल मंदाकिनी

खिरसू में करने के लिए गतिविधियाँ-

  1. प्रकृति की सैर
  2. ग्राम पर्यटन
  3. पंछी देखना
  4. ट्रेकिंग

खिरसु के पास कौन से आकर्षण हैं?

1.  कंडोलिया मंदिर (Kandolia Mandir)-

Kandoliya Temple
Source : Google Search

कंडोलिया पहाड़ियों पर ओक और पाइन के घने जंगल में स्थित है। इस मंदिर के समीप एक सुंदर पार्क, खेल परिसर और कुछ मीटर आगे एशिया का सबसे ऊंचा स्टेडियम रांसी है। ग्रीष्मकाल के दौरान कांडोलिया पार्क के साक्षी स्थानीय लोगों से खुश, हँसते और मस्ती भरे परिवारों को देखते हैं। पार्क का एक किनारा पौड़ी शहर का एक सुंदर दृश्य देता है और इसके दूसरे भाग में गंगवारसुई घाटी का सुंदर दृश्य दिखाई देता है। यह स्थान बस स्टैंड से पैदल या मोटर योग्य सड़क से 2 किमी की दूरी पर है। पेशेवर या शौकिया फ़ोटोग्राफ़र अपने कैमरे में बहुत कुछ संजोना चाहते हैं।

2.   धारी देवी मंदिर (Dhari Devi Mandir)-

Dhari Devi Temple
Source: Google Search

देवी काली को समर्पित यह मंदिर क्षेत्र की बहुत ज्यादा पूजी जाने वाली देवी है। लोगों की राय है कि पत्थर की नक्काशी वाले देवता दिन ढलते ही एक लड़की, महिला और बूढ़ी महिला का चेहरा बदल देते हैं। एक पौराणिक लेख में कहा गया है कि एक बार एक बाढ़ में एक मंदिर बह गया और धारी देवी की मूर्ति गांव धरो के पास एक चट्टान के नीचे फंस गई। ग्रामीणों ने मूर्ति की आवाज सुनी और एक भयावह आवाज से उन्हें मूर्ति स्थापित करने का निर्देश दिया।हर साल नवरात्रों के अवसर पर देवी कालीसौर की विशेष पूजा की जाती है।

 कैसे पहुंचे खिरसू 

1.फ्लाइट द्वारा-

174 किमी की दूरी पर निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट (देहरादून) है।

2. ट्रेन से-

रेलहेड कोटद्वार, 127 किमी।

3. रास्ते से-

एक मोटर योग्य सड़क निकटतम शहर पौड़ी से खिरसू को जोड़ती है। पौड़ी देहरादून, ऋषिकेश और कोटद्वार के साथ सड़कों के माध्यम से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। लेकिन, कांदोलिया पहाड़ियों के नीचे पौड़ी से ट्रेक, खिरसु के लिए सबसे रोमांचक वैकल्पिक मार्ग है।

अगर आपको यह पोस्ट  पसंद आई हो तो कृपया शेयर और कमेंट करें|




Piyush Kothyari

Founder of Lovedevbhoomi, Creative Writer, Technocrat Blogger

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!