देवभूमि सौंदर्य

Blockbusters Movie Shot In Uttarakhand | फिल्म निर्माताओं की पहली पंसद

Movie Shot In Uttarakhand | प्रारंभ से ही देवभूमि रही हिंदी सिनेमा के कलाकारों और फिल्म निर्माताओं की पहली पंसद

”ये हसीन वादियां और खुला आसमां…..आ गए हम कहां “

कहते है कि फिल्मों में शूटिंग यदि पहाड़ों और वादियों की हो तो वह दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। ऐसे में देवभूमि यानि उत्तराखंड राज्य की हसीन वादियां सिर्फ पर्य़टकों को ही नहीं अपितु फिल्म कलाकारों और निर्माताओं को भी अधिक लुभाती है, यही कारण हैं कि 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा के दौरान उत्तराखंड को मोस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट अवॉर्ड से नवाजा गया।

बॉलीवुड ही नहीं हॉलीवुड तक है उत्तराखंड की पहचान

उत्तराखंड की खूबसूरती से प्रभावित होकर सर्बियाई मूल के निर्माता गोरान ने अपनी अंग्रेजी फिल्म का नाम तक देवभूमि रख लिया है। जिसके लिए उत्तराखंड की प्राकृतिक खूबसूरती और शांत वातावरण कारक हैं। ऐसे में आज हम आपको बॉलीवुड की ऐसी ही कुछ फिल्मों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें उत्तराखंड की हसीन वादियों से लेकर देवभूमि के धार्मिक स्थलों को खूबसूरती से दर्शाया गया है।

Dev Bhoomi (2016) - IMDb Movie Shot In Uttarakhand
Image Source : Imdb

गढ़वाली संस्कृति पर बनी फिल्म हुई ऑस्कर के लिए नामित

आपको बताते चले कि उत्तराखंड की संस्कृति पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म मोतीबाग ऑस्कर के लिए नामित हुई थी। जिसकी सफलता पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उत्तराखंड के लोगों को बधाई दी थी। और कहा था कि बुजुर्ग किसान विद्यादत्त पर दर्शायी गई यह फिल्म उत्तराखंड में पलायन रोकने में कारगार साबित हो सकती है।

गढ़वाली फिल्म ओटीटी प्लेटफार्म पर होगी रिलीज

साथ ही उत्तराखंड के युवाओं की एक्टिंग स्किल्स को निखारने के लिए नेशनल अवॉर्ड विजेता और फिल्म निर्माता तिग्मांशु धूलिया ने उत्तराखंड में फिल्म और एक्टिंग इंस्टीट्यूट खोलने की बात कही हैं। जिनकी हाल ही में देहरादून और मसूरी की वादियों में दर्शायी गई फिल्म यारा 30 जुलाई को ओटीटी प्लेटफार्म पर रिलीज होने वाली है।

Yaara (2020)
Image Source : Imdb

उत्तराखंड की फिल्मों का इतिहास

हालांकि उत्तराखंड में फिल्मों की शुरुआत 80 के दशक से हुई थी। और पारेश्वर गौड़ की गढ़वाली फिल्म जग्वाल देवभूमि की पहली फिल्म थी। इसके बाद घर जैवे जिसे उत्तराखंड की शोले कहा जाता है, के साथ ही मेघा आ, तेरी सो, चालदा जात्रा, चेली, छोटी ब्वारी, हिमवीर समेत सैकड़ों फिल्में गढ़वाली संस्कृति पर बनाई गई है। सिर्फ गढ़वाली ही क्यों उत्तराखंड की जमीं पर निर्देशित हिंदी फिल्मों का इतिहास भी काफी पुराना है।

केदारनाथ

अभी हाल ही में बॉलीवुड की दुनिया में कोहराम तब मचा, जब जाने माने कलाकार सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कर ली। जिनकी हिट फिल्म केदारनाथ को उत्तराखंड में स्थानीय लोगों से काफी आलोचना प्राप्त हुई थी। लेकिन फिर भी इस फिल्म की शूटिंग देवभूमि के गौरीकुंड, त्रियुगीनारायण, सोनप्रयाग, रामबाड़, चोपता और केदारनाथ धाम में की गई थी। जिसमें केदारनाथ में 2013 में आई आपदा को दर्शाया गया है। इसमें सारा अली खान और सुशांत सिंह राजपूत के बीच प्रेम कहानी को रोचक ढंग से दिखाया गया है।

Sushant Singh Rajput and Sara Ali Khan in Kedarnath (2018)
Image Source : Imdb

कबीर सिंह

संदीप रेड्डी के निर्देशन में साल 2019 में बनी फिल्म शाहिद कपूर की सुपरहिट फिल्मों में से एक है। बता दें कि कबीर सिंह तेलगू फिल्म अर्जुन रेड्डी का रीमेक है। जिसमें एक प्रेमी द्वारा प्रेमिका के लिए हद से गुजर जाने की प्रवृत्ति दिखाई गई है। इस फिल्म में दिखाई गई अधिकतर जगह उत्तराखंड की वादियों की है। चाहे कबीर सिंह का एमबीबीएस का कॉलेज हो या फॉर्म हाउस, हर तरफ उत्तराखंड की जगहों का लुत्फ उठाया गया है। साथ ही मसूरी के सौंदर्य को भी दिखाया गया है। फिल्म में कयारा आडवाणी नायिका के किरदार में है।

Shahid Kapoor in Kabir Singh (2019)
Image Source : Imdb

राम तेरी गंगा मैली

लगभग तीन दशक पहले राज कपूर द्वारा निर्देशित फिल्म राम तेरी गंगा मैली हो गई की अधिकतर शूटिंग उत्तराखंड की हसीन वादियों में की गई थी। इतना ही नहीं फिल्म में उत्तरकाशी के एक खूबसूरत गांव हरसिल को भी दिखाया गया है, जोकि अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के लिए विख्यात है। फिल्म में अभिनेता ऋषि कपूर और अभिनेत्री मंदाकिनी ने मुख्य किरदार निभाया है।

Rajiv Kapoor and Mandakini in Ram Teri Ganga Maili (1985)
Image Source : Imdb

विवाह

फिल्म निर्माता सूरज बड़जात्या के निर्देशन में साल 2006 में बनी विवाह फिल्म की अधिकांश शूटिंग देवभूमि में हुई है। शाहिद कपूर और अमृता राव पर दर्शायी गई विवाह एक परिवारिक प्रेम कहानी है। जिसके गीत मिलन अभी आधा अधूरा है….की शूटिंग अल्मोड़ा के प्रसिद्ध जागेश्वर मंदिर में हुई है। कुछ दृश्यों में प्रसिद्ध गोलू मंदिर को भी दिखाया गया है। इसके अलावा रानीखेत और नैनीताल की कुछ जगहों पर भी फिल्म के सीन को दर्शाया गया है।

Movie Shot In Uttarakhand in Vivah (2006)
Image Source : Imdb

कोई मिल गया

रितिक रोशन पर दर्शायी गई इस फिल्म का निर्देशन साल 2003 में इन्हीं के पिता राकेश रोशन ने किया था। जिसमें रेखा और प्रीति जिंटा मुख्य किरदार में थे। इस फिल्म में अधिकतर सीन उत्तराखंड के कौसानी, भीमताल और नैनीताल में शूट किए गए थे। फिल्म के गाने कोई मिल गया में उत्तराखंड की प्राकृतिक छटा देखते ही बनती है।

Movie Shot In Uttarakhand in Koi.Mil Gaya (2003)
Image Source : Imdb

इस प्रकार स्टूडेंट ऑफ दा ईयर, परमाणु, नरेंद्र मोदी, बाटला हाउस, बत्ती गुल मीटर चालू आदि तमाम हिंदी सिनेमा में ऐसी फिल्में है जो उत्तराखंड की जमीं पर बनाई गई है या दर्शायी गई है। मात्र हिंदी फिल्में ही नहीं अपितु साउथ जगत को भी उत्तराखंड भाने लगा है। बात करें धारावाहिकों की तो उत्तराखंड राज्य में सोनी टीवी पर प्रसारित बड़े भैय्या की दुल्हनिया, जी टीवी का धारावाहिक पिया अलबेला, बेपनाह, डिस्कवरी चैनल पर प्रसारित मेन वर्सेज वाइल्ड और एम टीवी पर आने वाले रियलिटी शो splitsvilla के 10वें सीजन की शूटिंग के लिए प्रोडयूसरों की पहली पसंद बनकर उभरा है उत्तराखंड राज्य का प्राकृतिक सौंदर्य।

जानकारी के लिए बता दें कि फिल्म निर्देशक एम शाहिद की हाल ही में मसूरी टू मुंबई जोकि हरिद्वार की हरकी पौड़ी और पिरान कलियर शरीक आदि स्थानों पर दर्शायी जा रही है, करीब एक दो माह बाद रिलीज होने वाली है। जोकि चार समुदायों पर अधारित एक प्रेम कहानी है।

अगर आपको यह पोस्ट  पसंद आई हो तो कृपया शेयर और कमेंट करें|

आगे पढ़े

Piyush Kothyari

Founder of Lovedevbhoomi, Creative Writer, Technocrat Blogger

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!