उत्तराखंड विधानसभा का मानसून सत्र कोरोना के कारण तीन दिवसीय न होकर एक दिवसीय  23 सितंबर को होने जा रहा है

हम सभी देख रहे हैं कि हर जगह अभी विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनेता खूब तैयारी कर रहे हैं। एक तरफ विधानसभा चुनाव की तैयारी हो रही है और दूसरी तरफ कोरोना के मार से हर एक काम ठप हो रहा है।ऐसे में उत्तराखंड विधानसभा का मानसून सत्र 23 सितंबर को होने वाला है ।पहले यह कार्यक्रम 3 दिनों का होने वाला था लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए यह मानसून सत्र 3 दिन का नहीं होगे एक ही दिन का होगा।

आगे पढ़े विकासनगर में ससुराल पक्ष से दहेज नहीं मिलने के कारण पति ने दिया पत्नी को तीन तलाक

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि सत्तापक्ष के दर्जनों विधायक पहले ही कोरोना संक्रमण के चपेट में आ चुके हैं। विधायक के बाद अब खुद स्पीकर भी कोरोना कसंक्रमित पाए गए हैं। उसके बाद विपक्ष कांग्रेस मे भी पूछ लोग कोरोना पॉजिटिव दिख रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और विधायक हरीश धामी भी कोरोना संक्रमीत पाऐ गए है। उसके बाद पीपीसी चीफ और विधायक प्रीतम सिंह भी कोरोवायरस के कारण एकांतवास में चले गए हैं। बताया जा रहा है की केवल 11 के आंकड़े वाली कांग्रेस की कमान सदन में अब उपनेता करण माहरा ही संभालेंगे। यह छह महीने के भीतर सत्र की बाध्यता है। उन्होंने कहा कि ये आयोजन बहुत ही जरूरी है।

आगे पढ़े रुड़की मे फाइनेंस कर्मियों से तीन बाइक सवार बदमाशों ने बंदूक के बल लूटा ₹15000

इस सत्र की अवधि को लेकर विपक्ष कांग्रेस ने सरकार पर बहुत सारे आरोप लगाए फिर भी कांग्रेस को इस परिस्थिति को समझना ही पङा। कोरोना काल में सत्र का आयोजन, करना विधान सभा सचिवालय के लिए कितना मुश्किल काम है।यह समझना बहुत ही ज्यादा नेताओं के लिए नामुमकिन हो रहा है।

आगे पढ़े जाने क्या है उत्तराखंड में सरकार द्वारा लगाऐ गए,अनलॉक- 4 के नियम

Related posts

Leave a Comment