उत्तराखंड के चकराता में चार साल बाद रायशुमारी के बाद, केशर सिंह चौहान को व्यापार मंडल की नई कार्यकारिणी बनाई गयी

उत्तराखंड के चकराता में चार साल बाद रायशुमारी के बाद, केशर सिंह चौहान को व्यापार मंडल की नई कार्यकारिणी बनाई गयी

उत्तराखंड के चकराता मे 4 साल बाद एक बार फिर से व्यापार मंडल की बैठक में पुरानी कार्यकारिणी को हटाकर नई कार्यकारिणी का गठन किया गया। जिसमें सभी ने मिलकर फैसला किया है कि रायशुमारी के बाद केशर सिंह चौहान को चकराता व्यापार मंडल का नया अध्यक्ष बनाया  दिया गया है।उसके बाद अमित अरोरा को व्यापार मंडल का सचिव भी बनाया गया । उसके बाद निवर्तमान व्यापार मंडल अध्यक्ष ने सभी लोगों के सामने ही अपने कार्यालय का पूरा ब्यौरा भी प्रस्तुत किया है।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि 4 सालों से व्यापार मंडल चकराता की नई कार्यकारिणी का चुनाव नहीं हो रहा था। लेकिन वहां के जो व्यापारी है। वो बहुत दिनों से इस चुनाव को कराने के बारे में सोच रहे थे। इसीलिए सभी व्यापारियों ने मिलकर आर्य समाज मंदिर में बैठक किया।
इस दौरान व्यापारियों ने कोविड-19 के सभी नियमों का पालन करते हुए। नई कार्यकारिणी के गठन को लेकर आपस में विचार विमर्श किया।उसके बाद चकराता व्यापार मंडल के निवर्तमान अध्यक्ष विवेक अग्रवाल ने व्यापारियों से विचार-विमर्श करने के बाद पुरानी कार्यकारिणी को हटा कर नई कार्यकारिणी के गठन का प्रस्ताव सबके सामने रखा।

उत्तराखंड के स्थानीय व्यापारियों ने आपस में राय- विचार करने के बाद रायशुमारी से सहमति बनाने पर अध्यक्ष, सचिव समेत सभी पदों पर निर्विरोध पदाधिकारियों का चुनाव किया है।जिसमें अध्यक्ष और सचिव के सिवा अनिल चांदना व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष, दीपक मोहल कोषाध्यक्ष, प्रदीप जोशी सहसचिव चुने गए। साथ ही संरक्षण मंडल में पूर्व अध्यक्ष विवेक अग्रवाल, राजकुमार मेहता, संजय जैन, प्रताप चौहान, मनमोहन सिंह, तीर्थ कुकरेजा और हरमोहन आनंद इन सभी को भी इसमें शामिल किया गया है।

आगे पढ़े उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शहीदों को याद करते हुए, पाँच  सुझाव दिए जाने

इस बैठक में सभी ने मिलकर फैसला किया है कि व्यापार मंडल के कार्यकाल का समय दो साल के लिए निर्धारित कर दिया जाए। इस बैठक में उत्तराखंड के व्यापारी राम सिंह, पंकज जैन, नैन सिंह राणा, आंनद राणा, कमल रावत, श्याम वोरा, चंदन रावत, तरुण कुकरेजा, सन्नी आनंद, वियन शर्मा, रवीश अरोड़ा, राजेंद्र चौहान, आरपी सिंह, दलजीत नागपाल, गुमान सिंह सभी लोग उस समय वहां पर उपस्थित थे।

Related posts

Leave a Comment