गरीब छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए सरकार की तरफ से दी जाएगी, 50 हजार की आर्थिक सहायता

गरीब छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए सरकार की तरफ से दी जाएगी, 50 हजार की आर्थिक सहायता

देहरादून मे गरीब छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए प्राइवेट संस्थानों से कोचिंग लेना पड़ता है। जिससे कि बहुत सारे छात्र-छात्राएं पैसे नहीं होने के कारण अपने सपने को पूरा नहीं कर पाते हैं। ऐसे में राज्य सरकार उनके इस सपने को पूरा करने जा रही है।राज्य सरकार ने कहा है की कमजोर आर्थिक पृष्ठभूमि के इन सभी छात्र छात्राओं को कोचिंग के लिए 50 हजार रुपये तक आर्थिक सहायता दिया जाएगा।

गरीब छात्र छात्राएं भी दिखा पाएंगे अब अपना काबिलियत

आपको बता दें कि उत्तराखंड के गरीब छात्र-छात्राएं प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अब अपनी काबिलियत को दिखा सकेंगे। उत्तराखंड के गरीब छात्र-छात्राओं के खराब स्थिति को देखते हुए।सरकार इन गरीब छात्र-छात्राओं के मदद के लिए आगे हाथ बढ़ाने जा रही है। सभी छात्र छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए सरकार की तरफ से आर्थिक मदद दी जाएगी। आपको बता दें कि उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा है, कि गरीब छात्र छात्राओं को कोचिंग के लिए 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दिया जाएगा।

50 फीसद धनराशि छात्र-छात्राओं को खुद कोचिंग संस्थानों को देना होगा

उन्होंने कहा है की आर्थिक मदद की राशि छात्रो के खाते मे नही भेजकर सीधे कोचिंग संस्थानों के खातों में दिया जाएगा। आपको बता दे की 50 फीसद धनराशि छात्र-छात्राओं को खुद कोचिंग संस्थानों को देना होगा।राज्य सरकार ने उच्च शिक्षा विभाग को इस योजना का खाका तैयार करने का आदेश दिया है।

उन्होंने कहा है कि हम पूरा कोशिश करेंगे कि राज्य के जितने भी गरीब छात्र-छात्राएं हैं। उन सभी को ज्यादा संख्या में कोचिंग के लिए आर्थिक मदद की जाए। जीससे सभी गरीब छात्र -छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं में सफल होने का अवसर मिले सके। जिससे वो आगे बढ़ सके।

देहरादून में 4 साल की बच्ची के साथ किया गया दुष्कर्म, 9 साल के बच्चों पर लगा आरोप

Related posts

Leave a Comment