देवभूमि न्यूज़देहरादून

देहरादून: नहीं काटने पड़ेंगे दफ्तरों के चक्कर, अब ऑनलाइन टैक्स जमा करा सकेंगे निजी बस संचालक

उत्तराखंड में स्टेट कैरेज के तहत संचालित हजारों निजी बसों के साथ ही अन्य तमाम सार्वजनिक गाड़ियों के संचालकों को अब टैक्स जमा कराने के लिए परिवहन विभाग के दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने होंगे। अब स्टेट कैरेज संचालकों को ऑनलाइन टैक्स जमा कराने की सुविधा मिलेगी।

परिवहन विभाग की ओर से एनआईसी के जरिए सॉफ्टवेयर में बदलाव कर दिया गया है। अस्थाई पंजीकरण के लिए भी वाहन स्वामियों को विभागीय अधिकारियों के चक्कर नहीं काटने होंगे। इसके लिए भी ऑनलाइन सुविधा मिलेगी। बता दें कि स्टेट कैरेज के तहत संचालित हजारों निजी बसों के संचालकों को टैक्स जमा कराने के लिए परिवहन विभाग के दफ्तरों के चक्कर लगाने होते थे। ऐसे में सबसे अधिक दिक्कत उन गाड़ी संचालकों को होती थी जहां परिवहन विभाग के कार्यालय नहीं हैं।

उत्तराखंड गौरा देवी कन्या धन योजना 2021: आवेदन, योग्यता, ऑनलाइन पीडीएफ डाऊनलोड

आरटीओ डीसी पठोई ने बताया कि एनआईसी की मदद से सॉफ्टवेयर में बदलाव कर दिया गया है। इसके चलते निजी बस संचालक ऑनलाइन टैक्स जमा करा सकेंगे। अस्थाई पंजीकरण की सुविधा भी ऑनलाइन मुहैया कराई गई हैं। इससे वाहन स्वामियों को भारी सहूलियतें होंगी।

ऑनलाइन अस्थायी परमिट की भी की जाए व्यवस्था

ऑनलाइन टैक्स जमा कराने की सुविधा मुहैया कराने को लेकर परिवहन महासंघ पदाधिकारियों ने खुशी जताई है। अध्यक्ष सुधीर राय का कहना है कि इससे टीजीएमओयू, जीएमओयू, रुपकुंड पर्यटन विकास, दून वैली कांट्रैक्ट कैरेज, सीमांत सहकारी संघ, यातायात एवं पर्यटन विकास समेत नौ परिवहन एजेेंसियों से जुड़े हजारों बस संचालकों को राहत मिलेगी। उन्होंने मांग उठायी कि ऑनलाइन टैक्स के साथ ही ऑनलाइन अस्थायी परमिट की भी व्यवस्था लागू की जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!