देवभूमि न्यूज़

उत्तराखंड में सात अक्टूबर से सात शहरों की करें हवाई यात्रा

सात अक्टूबर से उत्तराखंड के सात शहरों में हेलीकॉप्टर से हवाई सेवा शुरू हो जाएगी। नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य एम सिंधिया हेली सेवाओं का शुभारंभ करेंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सचिवालय से वर्चुअल माध्यम से नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य एम सिंधिया के साथ उत्तराखंड में हवाई सेवाओं को बढ़ाने के संबंध में हुई महत्वपूर्ण बैठक में हिस्सा लिया।

सिंधिया ने कहा कि सात अक्तूबर को जौलीग्रांट में बने नए टर्मिनल का लोकार्पण किया जाएगा। हेली समिट के दौरान देहरादून-पंतनगर-पिथौरागढ़-पंतनगर-देहरादून हवाई सेवा को फ्लैग ऑफ भी किया जाएगा। यह सेवा पवन हंस की ओर से दी जाएगी। देहरादून-पिथौरागढ़ हेली सेवा को जल्द स्वीकृति दी जाएगी। इस मौके पर नागरिक उड्डयन सचिव दिलीप जावलकर, अपर सचिव स्वाति एस भदौरिया भी मौजूद रहे।

ऋषिकेश: सौंग नदी में बहा मुंबई निवासी कोचिंग सेंटर संचालक, शव बरामद 

हेली सेवा का रूट
देहरादून-श्रीनगर-देहरादून, देहरादून-गौचर-देहरादून, हल्द्वानी-हरिद्वार-हल्द्वानी, पंतनगर-पिथौरागढ़-पंतनगर, चिन्यालीसौड़ – सहस्त्रधारा-चिन्यालीयौड़, गौचर-सहस्त्रधारा-गौचर, हल्द्वानी-धारचूला-हल्द्वानी।

13 नए हेलीपोर्ट बनेंगे
उत्तराखंड में 13 हेलीपोर्ट के लिए जमीन चिह्नित की गई है। इनमें से 11 की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार हो चुकी है। आठ की टेंडर प्रक्रिया 20 अक्तूबर तक पूरी हो जाएगी। मसूरी हेलीपोर्ट की डीपीआर भी जल्द तैयार हो जाएगी। जौलीग्रांट एयरपोर्ट से शहरों की कनेक्टिविटी और बढ़ाई जाएगी। पंतनगर ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट की कार्यवाही में और तेजी लाई जाएगी।

दून से गौचर व श्रीनगर का किराया घटा
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड को एयर कनेक्टिविटी के क्षेत्र में दी गई इन सौगातों के लिए केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया का आभार व्यक्त किया। उन्होंने 11 जुलाई को नागर विमानन मंत्री से भेंट कर पवनहंस की हेली सेवा महंगी होने का मुद्दा उठाया था, जिसके बाद देहरादून से श्रीनगर 42 प्रतिशत और देहरादून से गौचर 50 प्रतिशत किराया कम कर दिया गया है। इस पर मुख्यमंत्री धामी ने मंत्री का आभार जताया।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!