उत्तराखंड के देहरादून में एक हंसता खेलता हुआ परिवार पर टूटा दुखों का कहर,जाने क्या है पूरा मामला

 

उत्तराखंड के देहरादून में एक हंसता खेलता हुआ परिवार पर टूटा दुखों का कहर,जाने क्या है पूरा मामला

 

उत्तराखंड की देहरादून से वाया टिहरी होते हुए रुद्रप्रयाग के ऊखीमठ एक कार नई टिहरी-बीपुरम मोटर के रास्ते से जा रहे थे जो कि जीरो प्वॉइंट के पास टिहरी झील में जाकर गिर गई सूत्रों के अनुसार जानकारी मिली है कि उस कार में 4 लोग सवार थे।

जब पुलिस को इस घटना के बारे में पता चला तो पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने दीक्षा रावत जो कि 23 साल की थी उनके पिता उद्धवीर सिंह रावत के रहने वाले मोली ऊखीमठ का शव पुलिस ने बरामद कर लिया है। पुलिस ने बताया कि 3 लोगों का लाश का कुछ पता नहीं चला है और ना ही कार का कुछ पता चला है।

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि देहरादून से मंगलवार रात 10 बजे एक कार रुद्रप्रयाग के लिए निकली थी जिसका लोकेशन अभी तक नहीं मिल रही थी

वह तो बाहर की शाम को टिहरी पुलिस को जब इसकी सूचना मिली तो पुलिस खोजबीन में जुट गई।जब पुलिस ने खोजबीन शुरू कीया तो टिहरी झील जीरो बेंड के पास पैराफिट टूटा मिला और कुछ बैग मिले। गुरुवार की सुबह से ही पुलिस ने राहत बचाव कार्य शुरू कर दिया।

पुलिस के जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात दस बजे मयूर विहार सहस्रधारा रोड से अभिषेक रावत उसकी बहन दीक्षा रावत और आशु के साथ ग्राम मौली ऊखीमठ रुद्रप्रयाग के लिए जा रहे थे ।पुलिस को बुधवार की सुबह जानकारी मिली कि ये लोग अभी तक अपने गांव नहीं पहुंचे हैं। इन लोगों का मोबाइल भी स्वीच आँफ बता रहा है।

जब पुलिस को इस बात की जानकारी मीली तो पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर इन लोगों का तलाश शुरू कर दीया है।इस मामले की जांच चौकी प्रभारी मयूर विहार राजेंद्र कुमार को दी गई है। उन्होंने कहा कि अभी तो एक ही लाश मीली है पर हमारी जाँच अभी चालू है।

Related posts

Leave a Comment