स्मार्ट सिटी के 13वीं सिटी लेवल एडवाइजरी फोरम की बैठक में महापौर और राजपुर के विधायक ने कहा

स्मार्ट सिटी के 13वीं सिटी लेवल एडवाइजरी फोरम की बैठक में महापौर और राजपुर के विधायक ने कहा जहाँ सड़कें मुक्त हो गई, वहां तुरंत हो मरम्मत

देहरादून मे जिन सड़कों को काम करने के बाद स्मार्ट सिटी कंपनी मुक्त कर रही है, उस सड़क पर जल्दी मरम्मत करने का आदेश दिया गया है। यह आदेश स्मार्ट सिटी के 13वीं सिटी लेवल एडवाइजरी फोरम की बैठक में महापौर और राजपुर के विधायक ने दिया है। उसके बाद स्मार्ट सिटी अधिकारियों ने कहा है,कि अब तक सङक मरम्मत कार्यों के लिए 3.19 करोड़ रुपये दिया गया है।

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि शनिवार को इस बैठक को संबोधित करते हुए महापौर सुनील उनियाल गामा ने बताया है कि इस बार त्योहारी सीजन शुरू होने के के साथ ही बाजार में बहुत ज्यादा भीङ बढ़ रही है। ऐसे में व्यस्त सड़कों पर रात में काम किया जा रहा है। उसके बाद राजपुर विधायक ने कहा कि सड़कों की खोदाई करने के दौरान बहुत सारी परेशानियां होती है, लेकिन सड़कों का काम जल्द से जल्द पूरा कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जहां पर सड़कों का नया काम शुरू हो रहा है वहां पर ट्रैफिक पुलिस, जल संस्थान, दूरसंचार जैसी एजेंसी को सूचित कर दिया जाऐगा।
इस बैठक में स्मार्ट सिटी कंपनी के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी जीसी गुणवंत ने लोनिवि प्रांतीय खंड को निर्देश दिए कि शनिवार रात से बुद्धा चौक, सेंट थॉमस स्कूल रोड मे मरम्मत का कार्य शुरू करवा दिया है। इसके साथ ही फोरम के समक्ष स्मार्ट सिटी के विभिन्न कार्यों की प्रगति साझा की गई। इस बैठक में अपर नगर आयुक्त मोहन सिंह बॢनया, इंडस्ट्रियल एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के अध्यक्ष पंकज गुप्ता सभी लोग वहां पर मैजूद थे।

स्मार्ट रोड पर तुरंत मरम्मत करना संभव नहीं

जानकारी के लिए आपको बता दें कि फोरम की इस बैठक में ये बात भी उठाई गई अगर सङक का एक काम पूरा हो जाता है तो उसे अच्छी तरह से दुरुस्त कर दिया जाना चाहिए।

इस बात पर अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी गुणवंत ने बताया कि स्मार्ट रोड के मामले में ऐसे संभव नहीं है, क्योंकि स्मार्ट रोड में सीवर लाइन बिछाने के बाद डक्ट का निर्माण भी किया जा रहा है। जब सभी काम पूरा हो जाएगा। तभी इस तरह का मरम्मत किया जा सकता है नहीं तो इस सड़क पर बेवजह ही पैसा खर्च होगा।उन्होंने कहा की जनता की सुविधा को देखते हुए राज्य में पहली बार सीवर लाइन भूमिगत ढंग से डाली जा रही है। ऐसे में निर्माण कार्य के दौरान सड़क बाधित भी नहीं की जा रही है। इतना जरूर है कि जहां पर भी पाइप डालने के लिए खोदाई की जा रही है, वहां पैचवर्क किया जा रहा है।

Related posts

Leave a Comment