नए साल की नई ख़बर,राजधानी देहरादुन से जुड़ेगे 4 एक्सप्रेस वे

राजधानी देहरादून को चारों दिशाओं से एक्सप्रेस वे से जोड़ने की योजना पर तेजी से काम शुरू हो गया है। प्रयास सिरे चढ़े तो अगले दो साल में शहर दिल्ली, चारधाम, हिमाचल और हरिद्वार को जोड़ने वाले फोरलेन मार्गों से जुड़ जाएगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जिनके पास लोक निर्माण विभाग भी है कि कोशिश एक साल के भीतर ज्यादा से ज्यादा प्रगति हासिल करने की है। चुनावी साल होने की वजह से राज्य सरकार प्रस्तावित योजनाओं के लिए अधिक ताकत लगाती दिखाई देगी।

आगे पढ़े हल्द्वानी : देश का पहला पॉलीनेटर पार्क

1.साल के पहले ही महीने में दून-हरिद्वार फोरलेन होगा तैयार
नए साल के पहले ही महीने में देहरादून-हरिद्वार फोर लेन मार्ग का काम पूरा हो जाएगा। पिछले कई सालों से अधर में लटके इस परियोजना पर तेजी कार्य के लिए हरिद्वार के सांसद व केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खास प्रयास किए। परियोजना पर युद्धस्तर पर कार्य चल रहा है। 15 जनवरी तक फोरलेन बनकर तैयार हो जाने की संभावना है। इसके निर्माण से हरिद्वार की दिल्ली से फोरलेन कनेक्टिविटी हो जाएगी।

2. दिल्ली-सहारनपुर-दून एक्सप्रेस वे
रोड कनेक्टिविटी के मामले में राजधानी देहरादून के लिए दूसरी सबसे बड़ी सौगात दिल्ली-सहारनपुर-दून एक्सप्रेस वे है। गणेशपुर से देहरादून तक एक्सप्रेस वे की डीपीआर तैयार करने का कार्य आरंभ हो गया है। एनएचएआई के क्षेत्रीय अधिकारी सीके सिन्हा के मुताबिक, परियोजना का निर्माण तेजी से हो, इसलिए इसके दो टेंडर होंगे, जिस पर एक साथ कार्य आरंभ होगा। इस हाईवे के निर्माण से उत्तराखंड की राजधानी देश की राजधानी से सीधे एक्सप्रेस वे से कनेक्ट हो जाएगी।

3. चारधाम ऑल वेदर रोड से कनेक्ट होगी राजधानी
भानियावाला से ऋषिकेश फोर लेन का निर्माण भी एनएचएआई करेगा। पहले चरण में परियोजना की डीपीआर तैयार करने का कार्य होगा। 19 किमी लंबे इस प्रस्तावित फोरलेन प्रोजेक्ट में एलीवेटेड रोड शामिल है। इसके निर्माण से राजधानी दून सीधे चारधाम ऑल वेदर रोड से फोर लेन से कनेक्ट हो जाएगी। स्थानीय लोगों के अलावा इसका बड़ा फायदा श्रद्धालुओं और पर्यटकों को भी होगा।

4. देहरादून से शिमला और चंडीगढ़ तक फोरलेन
एनएचआई की योजना के तहत देहरादून को हिमाचल की राजधानी शिमला और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ को फोरलेन से जोड़ने की है। पांवटा साहिब से बल्लूपुर तक फोरलेन बनने से इस उद्देश्य काफी हद तक पूरा हो जाएगा। एनएचआई इस परियोजना की भी डीपीआर तैयार कर रही है।

राजधानी की रोड कनेक्टिविटी को निर्बाध बनाए जाने की कई योजनाओं पर काम चल रहा है। रोड कनेक्टिविटी राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। एनएचआई दून-हरिद्वार फोरलेन हाईवे का काम 15 जनवरी तक पूरा कर देगा। अगले एक-दो सालों में भानियावाला से ऋषिकेश, पांवटा से बल्लूपुर और दिल्ली से दून के प्रोजेक्टों पर प्रगति होने की संभावना है। सरकार और विभाग की ओर से इसके लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।

आगे पढ़े बदलते मोसम के साथ बदला पत्नी का मिजाज़

Related posts

Leave a Comment