देहरादून में मेडिकल कॉलेज मे एमबीबीएस कर रहे युवक की मौत ट्रेन से टकराने से हुई

देहरादून में मेडिकल कॉलेज मे एमबीबीएस कर रहे छात्र की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई।मरने वाले छात्र का शव डोईवाला कोतवाली के लच्छीवाला रेलवे लाइन पर पाया गया। बताया जा रहा है कि युवक अपनी मां पुष्पा देवी के साथ पथरीबाग में किराये के मकान में रहता था। 8 नवंबर की दोपहर तीन बजे दीपराज अपने घर मे बिना बताए घर से चला गया था । जब दीपराज रात नौ बजे तक घर वापस नहीं आया तो उसकी मां ने पुलिस मे दीपराज की गुमशुदगी का रिपोर्ट दर्ज करवाया।

इस घटना की सूचना मिलते ही डोईवाला कोतवाली निरीक्षक सूर्यभूषण नेगी मौके पर पहुंच कर शव को अपने कब्जे में लिया। पुलिस के जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है युवक की मौत ट्रेन से टकराने से हुई है।

उसके बाद पुलिस ने मरने वाले युवक का फोटो व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर किया। जिसके बाद पता चला कि मरने वाला युवक दीपराज था।

भुवन पुजारी ने बताया कि सूचना पर परिजन डोईवाला स्थित अस्पताल की मोर्चरी पहुंचे और पुलिस से जानकारी ली। सोमवार को पोस्टमार्टम की प्रक्रिया पूरा करने के बाद परिवार वालों को दीपराज का शव बरामद किया।

युवक अपना मोबाइल फोन और पर्स घर मे ही छोरा था

जानकारी के लिए आपको बता दे की पटेलनगर कोतवाली के एसएसआई भुवनचंद्र ने कहा कि दीपराज जब बहुत देर तक अपने घर नहीं आया तो परिवार वालों को चिंता होने लगी। उसके बाद परिवार वालों ने दीपराज को खोजना चालू किया, लेकिन दीपराज नहीं मिला। जब दीप राज के मोबाइल फोन पर फोन लगाया गया,तो फोन घर में ही पाया गया।

पुलिस को मीली युवक को ट्रेन के आगे कूदने की सूचना मिली

उसके बाद डोईवाला कोतवाली के एसएसआई महावीर रावत ने कहा कि रात में कंट्रोल रूम से जानकारी मिली कि रेलवे ट्रेक पर एक युवक ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दिया। जब पुलिस मौके पर वहां पहुंची तो देखा मरने वाला युवक दीपराज है।

दीपराज की मां और बहन ने ऑडियो मैसेज भेजा था।

आपको बता दें कि दीपराज 2016 में एमबीबीएस की पढ़ाई करने देहरादून आया था। दीपराज अपनी पढ़ाई के लिए हॉस्टल में रहता था। उसकी छोटी बहन भी मेडिकल की तैयारी करने के लिए देहरादून ही आई थी उसकी बहन की आने के बाद उसकी मां वहीं आकर रहने लगी।

जब दीप राज की मां वहां रहने लगी तो दीपराज भी अपनी मां और बहन के साथ ही रहने आ गया। उसके बाद छात्रों के ग्रुप में रविवार को दीपराज की मां एवं बहन ने एक ऑडियो संदेश दिया था। जिसमें दीपराज के मिसिंग होने की जानकारी दी थी और उसके बारे में कोई सूचना मिलने पर जानकारी देने की बात कही थी। बताया गया है कि दीपराज अपना फोन घर पर ही छोड़ गया था। उसी के फोन से ग्रुप में मैसेज छोड़ा गया।

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि दीपराज पिथौरागढ़ के मुनस्यारी के रहना वाला था। दीपराज एमबीबीएस का छात्र था।जो 2 साल बाद डॉक्टर बनने वाला था। डॉक्टर बनने से पहले ही वो इस दुनिया को छोड़ कर चला गया।

जैसे ही दून मेडिकल कॉलेज के छात्रों और शिक्षकों ने जब दीपराज की मौत की खबर सुनी तो उन सब को तो विश्वास ही नहीं हो रहा था,कि यह सब अचानक कैसी हो गया।बताया जा रहा है की,दीपराज एमबीबीएस के बैच 2016 का छात्र था, 2016 में बैक लगने के कारण वह बैच 2017 के छात्रों के साथ पढ़ाई कर रहा था। कॉलेज में वह हॉस्टल में ही रहता था।

देहरादून मे मामा पर भांजी को भगाकर ले जाने और बलात्कार करने का लगाया गया आरोप

Related posts

Leave a Comment