पिथौरागढ़

पिथौरागढ़: सीमांत में आफत की बारिश, दो दर्जन मार्ग बंद, डेढ़ दर्जन से अधिक परिवारों को प्रशासन ने किया सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट

पिथौरागढ़
सीमांत जनपद में हो रही लगातार भारी बारिश को देखते हुए जिलाधिकारी आनन्द स्वरूप ने जनपदभर में बारिश से हो रहे नुकसान की जानकारी लेते हुए किसी भी प्रकार की घटना से निपटने के लिए अलर्ट रहने के निर्देश उपजिलाधिकारियों व अन्य विभागों के अधिकारियों को दिए हैं।
जनपद में हो रही लगातार वर्षा से नदियों के जल स्तर बढ़ने से एतियातन नदी किनारे रह रहे लोगों को स्थानीय प्रशासन व पुलिस के माध्यम से सूचित किया जा रहा है। आपदाग्रस्त क्षेत्रों में लोगों को सुरक्षित स्थानों में रखे जाने के लिए राहत व पुनर्वास केन्द्र भी पूर्व से ही चिह्नित किए गए हैं।

जिलाधिकारी ने सभी विभागों को अलर्ट रहते हुए किसी भी प्रकार की आपदा से निपटने तैयार रहने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हैं।
तहसील धारचूला के घटखोला में काली नदी से भारत की ओर को हो रहे कटाव को रोके जाने के लिए जिलाधिकारी द्वारा उप जिलाधिकारी धारचूला को तत्काल सिंचाई विभाग के माध्यम से बोल्डर आदि से सुरक्षात्मक कार्य करने के निर्देश दिए गए। जिसके अनुसार सिंचाई विभाग धारचूला द्वारा शनिवार से घटखोला में सुरक्षात्मक कार्य भी शुरू कर लिया गया है।जिलाधिकारी ने जौलजीबी-मुनस्यारी मार्ग जो विभिन्न स्थानों में बंद हो गया है उसे शीघ्र खोले जाने को लेकर बीआरओ के अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं।

जिलाधिकारी द्वारा थल-मुनस्यारी मोटर मार्ग में हरड़िया के पास लगातार बंद हो रहे मार्ग को त्वरित गति से खोले जाने के लिए डोजर व जेसीबी की संख्या बढ़ाने के साथ ही नाचनी में भुजगड़ नदी में बना मोटर पुल का एबटमेंट जो खतरे की जद में आ गया है,तत्काल उसकी जाँच कर उसके सुरक्षात्मक कार्य की कार्रवाई करने के अतिरिक्त आवश्यकता पड़ने पर पुल की मरम्मत कार्य पूर्ण तक यातायात को बंद रखा जाने को लेकर संबंधियों को आवश्यक निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने दारमा घाटी को जोड़ने वाले मोटर मार्ग जो विभिन्न स्थानों में क्षतिग्रस्त हो गया है उसे भी शीघ्र ही यातायात के लिए खोले जाने को लेकर कार्यदायी संस्था केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग को आवश्यक निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने सड़क निर्माण विभाग से सम्बंधित सभी विभागों के अधिकारियों को बंद सड़कों को तत्काल खोले जाने को लेकर आवश्यक निर्देश दिए हैं।जिलाधिकारी ने सभी विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों को निर्देश दिए कि वह अपने कार्य क्षेत्र में बने रहें, ग्रामीण क्षेत्र में जो अधिकारी, कर्मचारी तैनात हैं, वह अपनी तैनाती स्थल पर बने रहें, तथा अपना मोबाइल ऑन रखें। ताकि ग्रामीणों को भी प्रशासन की उपस्थिति गांव में दिखाई दे और किसी भी प्रकार की घटना होने पर तत्काल रिस्पॉन्स रहे। जिला आपदा परिचालन केन्द्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार तहसील मुनस्यारी के ग्राम तल्ला भदेली में लक्ष्मण सिंह की दुकान गोरी नदी में बह गई है।

इसके अतिरिक्त जिले में डेढ़ दर्जन से अधिक सड़क मार्ग बंद हैं जिन्हें खोले जाने का कार्य लगातार जारी है।तहसील प्रशासन बंगापानी से प्राप्त जानकारी के अनुसार तल्ला घरुड़ी के 8 मकान जो खतरे की जद में आ गए थे,उन परिवारों के कुल 26 सदस्यों को मल्ला घरुडी के प्राथमिक विद्यालय एवं अन्य सुरक्षित स्थान में शिफ्ट किया गया है। इसके अतिरिक्त लुमती के 2 परिवार के 8 सदस्यों को जीआईसी बरम में, तहसील मुनस्यारी के ग्राम धापा के 11 परिवारों के 55 सदस्यों को विद्यालय, पंचायत भवन आदि में सुरक्षित स्थानों में तथा जोशा के 2 परिवारों के 7 सदस्यों को सुरक्षित स्थानों में शिफ्ट किया गया है। जिले में किसी भी प्रकार की जन एवं पशुहानि नहीं हुई।
जिलाधिकारी ने तहसीलदार धारचूला को बंगापानी तहसील में सुरक्षा, राहत व बचाव कार्यों को करने के निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने सभी तहसीलों में स्थापित कंट्रोल रूम के प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि किसी भी प्रकार की आपदा की घटना होने पर तत्काल जिला मुख्यालय एवं संबंधित विभागों को शीघ्र अवगत कराया जाए ताकि राहत एवं बचाव कार्य तत्काल शुरू किए जा सकें। साथ ही बीएसएनएल के अतिरिक्त अन्य नेटवर्क भी रखा जाय।जिलाधिकारी ने आम जनता से अपील की है कि वह वर्षाकाल में सुरक्षा की दृष्टि से कम से कम आवागमन करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!