पिथौरागढ़

निजी अस्पतालों के खिलाफ यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

पिथौरागढ़
प्रदेश के निजी अस्पतालों में चल रही खुलेआम लूट के विरोध में यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बुधवार को कोरोना नियमों का पालन करते हुए अपने-अपने आवास पर धरना देकर सरकार पर आम जनता की अनदेखी के आरोप लगाते हुए नाराजगी प्रकट की है।
जिलाध्यक्ष ऋषेन्द्र महर सहित दर्जनों युवा साथियों द्वारा धरना देते हुए कहा गया की सरकार की छूट निजी अस्पताल कर रहे लूट” ।

महर ने कहा की पिथौरागढ़ से अधिकतर मरीजों को रेफर कर दिया जाता है क्योंकि यहां का अस्पताल तो मात्र रेफर सेंटर बनकर रह गया है, ऐसे में जब लोग यहां से बाहर निजी अस्पतालों में इलाज के लिए जा रहे है तो तो वहां इनको निजी अस्पतालों द्वारा बेतहाशा महंगे में बेड,ऑक्सीजन, आई सी यू ,वेंटिलेटर दिए जा रहे है जिससे लोगो पर दोहरी मार पड़ रही है। सरकार ने इस और ध्यान देना होगा । सरकार ने पूर्व में जो गाइड लाइन के तहत किराया तय किया है उसे निजी अस्पताल कतई भी मान नहीं रहे हैं।

इस दौरान उन्होंने सरकार और निजी अस्पतालों पर मिली भगत के आरोप भी लगाए।

उन्होंने कहा पूर्व निर्धारित गाइडलाइन में मध्यम बीमार रोगी के लिए (ऑक्सीजन बेड) का किराया 8000 , गंभीर रूप से बीमार रोगी के लिए (आई सी यू +ऑक्सीजन) का किराया 12000 और अति गंभीर रूप से बीमार रोगी के लिए (आई सी यू+वेंटिलेटर +ऑक्सीजन )का किराया 14000 तय है पर निजी अस्पताल इसका खुले आम मजाक बना रहे है जोकि आम नागरिकों की उपेक्षा को दर्शाता है ।

यूथ कांग्रेस ने चेतावनी देते हुए कहा की सरकार ने जल्द ही निजी अस्पतालों पर नकेल नहीं कसी तो वे आंदोलन को बाध्य होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!