पिथौरागढ़ जिला के चिकित्सालय में चिकित्सक बहाल होने के 17 दिन बाद भी अस्पताल नहीं पहुंचे

पिथौरागढ़ जिला के चिकित्सालय में चिकित्सक बहाल होने के 17 दिन बाद भी अस्पताल नहीं पहुंचे, जिससे मरीजों को इलाज के लिए करना पड़ रहा है, परेशानियों का सामना  

 उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिला मे  चिकित्सालय में डॉक्टर को 17 दिन पहले नियुक्त कर दिया गया है,लेकिन अभी तक डॉक्टर ने अस्पताल में कदम तक नहीं रखा है। जिससे मरीजों को अल्ट्रासाउंड या चेकअप के लिए किसी निजी अस्पताल में ही जाना पड़ रहा है। जहां पर मरीजों को काफी भीड़ का सामना करना पड़ रहा है,और उन्हें सही ढंग से इलाज भी नहीं मिल पा रहा है। इस समस्या से कोरोना वायरस बढ़ने की आशंका बहुत ज्यादा बढ़ रही है,हो सकता है ज्यादा भीड़ एक जगह इकट्ठा होने से और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने के कारण कोरोना संक्रमण और ज्यादा बढ़ जाए।

वहां के लोगों ने बताया कि जिला चिकित्सालय में एक साल से रेडियोलॉजिस्ट का पद खाली है। जिसके कारण अस्पताल में किसी भी मरीज का अल्ट्रासाउंड नहीं हो पा रहा हैं। वहां पर जितने भी मरीज आते हैं और अल्ट्रासाउंड करवाना पड़ता है तो वह निजी अस्पताल में जाकर अपना अल्ट्रासाउंड करवाते हैं।

आगे पढ़े कैबिनेट में आए 32 प्रस्ताव, मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लगाऐ  30 फैसले पर मुहर, जानिए कौन से हैं वो अहम फैसले

वहां अभी फिलहाल  पांच निजी क्लीनिकों में अल्ट्रासाउंड की सेवा उपलब्ध है। जिनमें से एक निजी क्लीनिक बंद है और  चार में दो क्लीनिक बाहर से जांच के लिए आ रहे लोगों को कोरोना संक्रमण की आशंका के चलते तवज्जो नहीं दे रहे हैं। इससे सिर्फ दो क्लीनिकों में ही भारी भीड़ उमड़ रही है। जिससे मरीजों को ज्यादा परेशानी हो रही है, क्योंकि  दो अस्पतालों में ही अल्ट्रासाउंड किया जाता है जिसे बहुत ज्यादा भीड़ लगी रहती है और मरीजों को काफी देर तक इंतजार करना पड़ता है, फिर भी उनका अल्ट्रासाउंड 1 दिन में नहीं हो पा रहा है।

इससे पहले जिला चिकित्सालय में रेडियोलॉजिस्ट  का पद खाली था, लेकिन जिला चिकित्सालय में 17 दिन पहले ही रेडियोलॉजिस्ट पद पर एक  नए चिकित्सक की बहाली कर दिया गया है। लेकिन 17 दिन हो गए हैं लेकिन अभी तक डॉक्टर ने अस्पताल में कदम तक नहीं रखा है।  जिला चिकित्सालय के प्रभारी पीएमएस डॉ. केसी भट्ट ने कहा है कि नवनियुक्त चिकित्सक की तैनाती के लिए उच्चाधिकारियों को पत्र लिखा गया है।

Related posts

Leave a Comment