उधमसिंह नगर से दिल दहलाने वाली घटना सामने आयी, बेटी और दामाद ने मिलकर

uk murder news

उत्तराखंड के उधमसिंह नगर से दिल दहलाने वाली घटना सामने आया, बेटी और दामाद ने मिलकर पूरी परिवार को उतारा मौत की घाट

उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर के रुद्रपुद ट्रांजिट कैंप एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है बताया जा रहा है कि राजा काॅलोनी में एक ही परिवार के चार लोगों की एक साथ हत्या का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बेटी और दामाद ने मिलकर अपनी सास, ससुर और दो साली की हत्या कर दीया। उसके बाद उन चारों की लाश उन्हीं के मकान में दफना कर छुपा दिया। बताया जा रहा है कि दामाद ने यह वारदात ससुर की संपत्ति हथियाने के कारण ऐसा किया। मामला सामने आते ही आइजी और एसएसपी मौके पर पहुंच गए हैं। शवों को निकालने के लिए घर में खुदाई करवाई गई।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि बरेली के मीरगंज के रहने वाले हीरालाल अपनी पत्नी हेमवती और तीन बेटीयों लीलावती (35), पार्वती (24) और दुर्गा (20) के साथ ऊधमसिंह नगर के ट्रांजिट कैंप में अपना घर बना कर वहीं पर रहते थे। बताया जा रहा है की मीरगंज का ही रहने वाला नरेंद्र गंगवार ने सात साल पहले लीलावती से प्रेम विवाह किया था। उसके बाद उसका दामाद हीरालाल के ट्रांजिट कैंप स्थित आवास पर ही रहने लगा। खबर सामने आ रही है कि 2015 में दामाद और ससुर में किसी बात को लेकर लड़ाई झगड़े शुरू हो गए उसके बाद हीरालाल ने नरेंद्र और लीलावती को अपने घर से बाहर निकाल दिया। उसके बाद नरेंद्र ट्रांजिट कैंप में ही किराए के मकान में रहने लगा। पुलिस के अनुसार नरेंद्र और उसकी पत्नी ने योजना बनाई कि हीरालाल को परिवार समेत खत्म कर दिया जाए और बरेली के मीरगंज समेत ट्रांजिट कैंप की संपत्ति पर कब्जा कर लिया जाए।

लोगों के अनुसार बताया जा रहा है कि नरेंद्र और लीलावती ने डेढ़ साल पहले हीरालाल, हेमवती, पार्वती और दुर्गा को उनके घर में घुसकर मार दिया और हीरालाल के घर में ही सभी शवों को दफना दिया। कुछ दिन पहले दोनों ने बरेली के मीरगंज स्थित जमीन और मकान को अपने नाम कराने का प्रयास शुरू कर दिया था । जब हीरालाल के रिश्तेदारों को इस बात का पता चला तो उनके बेटी और दामाद पर शक होना शुरू हो गया उसके बाद उन लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस को दे दिया। पुलिस ने जब नरेंद्र को पकड़कर पूछताछ की तो उसने पूरा घटनाक्रम के बारे में सही-सही बता दिया। उसके बाद पुलिस ने शवों को निकालने के लिए मकान के अंदर खुदाई करवा कर सभी शवों को बाहर निकलवाया।

आगे पढ़े उत्तराखंड में 17277 लोग कोरोना संक्रमित अब तक पाए गए हैं

Related posts

Leave a Comment