कर्मचारी की हड़ताल रहेगी जारी ,नही बनी बात

उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन की प्रदेशव्यापी हड़ताल के बीच रोडवेज प्रबंधन से वार्ता हुई, लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया। बीच वार्ता में ही किसी आवश्यक कार्य के चलते एमडी रणबीर सिंह चौहान को जाना पड़ा। अब बृहस्पतिवार को दोबारा वार्ता बुलाई गई है। लंबित वेतन भुगतान सहित सात सूत्री मांगों को लेकर उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन ने बुधवार से प्रदेशव्यापी हड़ताल शुरू कर दी। यूनियन से जुड़े करीब साढ़े तीन हजार कर्मचारी इस हड़ताल में शामिल हुए। हड़ताल की वजह से प्रदेश भर में सुबह की पहली ही बस सेवा शुरू नहीं हुई। हालांकि रोडवेज प्रबंधन का दावा है कि हड़ताली कर्मचारियों को छोड़कर बाकी कर्मचारी बस सेवा संचालन से जुड़े हुए हैं।

आगे पढ़े हरिद्वार: जेल मै कैदी से मांगी फिरोती,एसटीएफ ने फोड़ा पुरे नेटवर्क का भांडा

उधर, बुधवार को रोडवेज के एमडी रणबीर सिंह चौहान ने हड़ताली यूनियन को वार्ता के लिए बुलाया। करीब डेढ़ घंटे तक वार्ता चली, लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया। इस बीच प्रबंध निदेशक को आवश्यक कार्य से जाना पड़ा, जिसके चलते वार्ता आगे नहीं बढ़ पाई। अब बृहस्पतिवार को वार्ता बुलाई गई है। उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन के प्रदेश महामंत्री अशोक चौधरी का कहना है कि बुधवार को वार्ता पूरी नहीं हो पाई, लिहाजा गुरुवार को दोबारा वार्ता की जाएगी। तब तक बृहस्पतिवार को भी प्रदेशव्यापी हड़ताल जारी रहेगी। वार्ता में रोडवेज के महाप्रबंधक तकनीकी दीपक जैन, मंडलीय प्रबंधक, यूनियन के प्रदेश महामंत्री अशोक चौधरी, प्रदेश प्रवक्ता विपिन चौधरी, क्षेत्रीय मंत्री केपी सिंह, विनय जोशी, नीरज चौधरी आदि शामिल रहे।

आज कर्मचारी यूनियन को वार्ता के लिए बुलाया गया था। तमाम बिंदुओं पर चर्चा हुई, लेकिन करीब डेढ़ घंटे की वार्ता में कोई सहमति नहीं बन पाई थी। इसके बाद प्रबंध निदेशक को आवश्यक कार्य से जाना पड़ा, अब बृहस्पतिवार को दोबारा वार्ता बुलाई गई है। हम आज वार्ता के लिए गए थे। वार्ता चल ही रही थी कि प्रबंधक निदेशक को जाना पड़ा। बृहस्पतिवार को वार्ता होगी लेकिन प्रदेशभर में हमारी यूनियन की हड़ताल बृहस्पतिवार को भी जारी रहेगी

आगे पढ़े सीमा पर जा रही सेना की तोपों से, गंगोत्री हाईवे पर लगा जाम

Related posts

Leave a Comment