देवभूमि न्यूज़देहरादूनपिथौरागढ़

देहरादून: बारिश बनी कहीं आफत तो कहीं राहत, मकान क्षतिग्रस्त होने एक बच्चे समेत 3 लोगों की मौत

देहरादून: बागेश्वर जिले में शनिवार रात बादलों ने भारी तबाही मचाई है। जिले के कपकोट में अतिवृष्टि से मलबा आने से एक घर मे मलवा आने से एक बच्चे समेट तीन लोगों के दबने से मौत हो गई है। यह घटना बागेश्वर जिले के ग्राम सुमगढ़ ऐठाण के इटावन तोक की है। ग्रामीणों द्वारा सूचना के बाद रविवार सुबह राजस्व पुलिस, डॉक्टरों की टीम और एंबुलेंस मौके पर पहुंची। तहसीलदार कपकोट ने इस बात की पुष्टि की है कि मलबे में दबने से परिवार के 3 सदस्य की मृत्यु हो गई है। गृह स्वामी गोविंद सिंह पंड (38 वर्ष) उनकी पत्नी खाष्टि देवी (32 वर्ष) और 7 वर्षीय बालक हिमांशु पंडा घर मे ही मलबे में दब गये थे। वहीं कपकोट के सरन गांव के कई घरों में मलवा घुसने की सूचना मिली है। यहां मलबे में कई पालतू जानवर भी दबे हुए हैं।

बता दे देहरादून और आसपास के क्षेत्रों में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। मसूरी में भी देर रात से ही बारिश हो रही है और कोहरा छाया हुआ है।

कई जगह भूस्खलन से मार्ग अवरुद्ध –

बारिश के मद्देनजर बदरीनाथ हाईवे, पागलनाला, गुलाब कोटि एवं हनुमानचट्टी के पास मलवा आ जाने से यह बंद हो गया है। गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर कई जगह भूस्खलन की वजह से सड़क अवरुद्ध हो गई थी। जिसे बाद में खोल दिया गया। जगह-जगह भूस्खलन की वजह से लोगों को काफी परेशानी हो रही है। बारिश की वजह से पूरी पिंडर घाटी की बिजली गुल हो गई है।

वहीं कर्णप्रयाग – ग्वालदम राष्ट्रीय राजमार्ग बगोली – नारायणबगड हरमनी के बीच कई जगहों पर मलबा आने से सड़क मार्ग अवरुद्ध है। साहिया में शंभू की चौकी -बंनसार मोटर मार्ग और हईया-अलसी-सकनी-कनबुआ मोटर मार्ग पर मलबा आ जाने की वजह से सड़क मार्ग करीब 10 घंटे तक बाधित रहा। इसकी वजह से सबसे ज्यादा परेशानी किसानों और बीमार लोगों को कोई हुई। मलवा रात 11 बजे तेज बारिश के चलते आ गया था, लेकिन जेसीबी न पहुंच पाने की वजह से स्थानीय लोगों ने स्वयं ही मलवा हटाने का प्रयास किया और करीब 10 घंटे के बाद सुबह मार्ग को छोटे वाहनों के लिए मार्ग खोल पाना संभव हो सका।

प्रदेश के ज्यादातर जिलों में भारी बारिश की संभावना के मद्देनजर पहले से ही अलर्ट जारी कर दिया गया था। वहीं बद्रीनाथ और गंगोत्री हाईवे को भी बंद कर दिया गया है। मौसम केंद्र की तरफ से जारी किए गए बुलेटिन में कहा गया है कि राजधानी देहरादून, उत्तरकाशी, चमोली, टिहरी, नैनीताल, बागेश्वर, पिथौरागढ़ जिलों में कई स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान है।

किसानों को बारिश से राहत –

बारिश से किसानों को राहत मिली है। बारिश के बिना लोगों की फसलें खराब हो रही थी। कई क्षेत्रों में सूखे के हालात बन रहे थे। लेकिन शुक्रवार की रात से ही बारिश होने से किसानों को कुछ राहत मिल गई है। एक तरफ जहां उमस और गर्मी से लोगों को राहत मिली है। वहीं इससे फसलों को भी काफी फायदा हो रहा है। धान, मुंडवा, दलहन की फसलों के लिए यह बारिश काफी लाभदायक साबित होगी। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!