कांग्रेसियों ने झारखंड घूस कांड मामले में मांगा, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का इस्तीफा

देहरादून मे उच्च न्यायालय की ओर से झारखंड घूसकांड के मामले में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की सीबीआइ जांच का आदेश दिया। जिसके कारण कांग्रेस के सभी नेता और पदाधिकारियों ने राजपुर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय से राजभवन के लिए प्रस्थान कि।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस विरोध रैली का नेतृत्व कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह और प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ये दोनों मिलकर ही कर रहे हैं। कांग्रेस ने कहा कि मेरा मानना है ।मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत नैतिकता के आधार पर अपने पद से इस्तीफा दें और सरकार सीबीआइ जांच की अनुमति दे। जिससे कि इस घूसकांड मामला का पर्दाफाश हो सके,और जो सच्चाई है। वो सामने आ सके। उसके बाद पुलिस ने हाथीबड़कला पर बैरिकेडिंग लगाकर कांग्रेसियों को राजभवन जाने से रोक दिया। जिसके कारण पुलिस के साथ कांग्रेसियों की धक्का मुक्की और बहस -बाजी हुई। जिसके कारण कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ खुब जमकर नारेबाजी की।

खटीमा में सभी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण वर्ग को लेकर सौपीं जिम्मेदारियां

इस कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश, एआइसीसी सचिव काजी निजामुद्दीन, सहप्रभारी राजेश धर्माणी, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के साथ ही बहुत बड़ी संख्या में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी और कर्तकर्त्ता शामिल हुऐ थे।इसके साथ ही हाथीबड़कला में भारी पुलिस बल भी तैनात किया गया था।

उत्तराखंड में डिग्री कॉलेजों को खोले जाने की हो रही है, तैयारी

Related posts

Leave a Comment