पिथौरागढ़

पिथौरागढ़ : सैनिक कल्याण मंत्री द्वारा किया गया 3 करोड़ 84 लाख की रूपये की लागत से निर्मित रूरल हाट का लोकार्पण

पिथौरागढ़

जनपद भ्रमण पर पंहुचे प्रदेश के सैनिक कल्याण, औद्योगिक विकास ग्रामोद्योग मंत्री गणेश जोशी द्वारा मंगलवार को जिला मुख्यालय के ओद्योगिक आस्थान परिक्षेत्र में 3 करोड़ 84 लाख की रूपये की लागत से निर्मित रूरल हाट का लोकार्पण किया गया। इसके उपरांत उन्होंने विभिन्न हथकरघा,हस्तशिल्प उत्पादों की प्रदर्शनी का भी अवलोकन कर उत्पादकों से वार्ता की गई।इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित जनता को संबोधित करते हुए उद्योग मंत्री जोशी ने कहा कि स्थानीय उत्पादों को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहन देना आवश्यक है, सरकार इस दिशा में कार्य कर रही है। प्रदेश में अधिक से अधिक लोगों को स्वरोजगार एवं रोजगार से जोड़े जाने के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अतिरिक्त मुख्यमंत्री नैनो स्वरोजगार योजना सरकार प्रारम्भ कर रही है जिससे प्रदेश के 20 लाख लोगों को रोजगार से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ग्रामीण लघु एवं कुटीर उद्योगों को बढ़ावा दिया जा रहा है उत्पादों को सही मूल्य एवं बाजार मोहय्या कराए जाने को लेकर रूरल हाट का निर्माण किया जा रहा है। औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा दिये जाने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न स्वरोजगार परख योजनाएं प्रदेश में विभिन्न विभागों के माध्यम से संचालित की गई है। प्रदेश में हथकरघा व शिल्प कला को भी आगे बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। प्रदेश में महिलाओं को उद्यम लगाए जाने के लिए विशेष छूट भी सरकार द्वारा दी जा रही है।
उन्होंने कहा कि उद्यमियों की विभिन्न जो भी समस्याएँ हैं उनका प्राथमिकता से सरकार द्वारा समाधान किया जाएगा।इसको लेकर उन्होंने महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र को प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्थानीय हस्तकला व कुटीर उद्योगों को बढ़ावा दिये जाने के उद्देश्य से पिथौरागढ़ में हस्तशिल्प मेले का आयोजन किया जाएगा।
इस अवसर पर पेयजल,ग्रामीण निर्माण मंत्री विशन सिंह चुफाल ने अपने संबोधन में कहा कि हस्तकला,शिल्पकला में जो मेहनत है उसके मुताबिक उन्हें
दाम व बाजार नहीं मिल पा रहा है इस प्रकार के ग्रामीण हाट के निर्माण से इन उत्पादकों को दाम भी तथा बाजार भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि आज हमें आत्मनिर्भर की ओर बढ़ना होगा सरकार की योजनाओं का लाभ लेते हुए गाँव में ही स्वरोजगए करना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार गाँव में कुटीर उद्योगों का जाल बिछाए जाने के क्षेत्र में कार्य कर रही है। इसके लिए विभिन्न लघु एवं कुटीर योजनाएँ संचालित कर लोगों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है।
इस अवसर पर विधायक चंद्रा पंत ने कहा कि सरकार द्वारा स्वरोजगार को बढ़ाने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की गई हैं। इस प्रकार के रूरल हाट से स्वरोजगार के अवसर बढ़गे,कुटीर धंधे बढ़गे, जिससे लोगों को अधिक से अधिक लाभ प्राप्त होगा।
कार्यक्रम का संचालन करते हुए महाप्रवन्धक जिला उद्योग केन्द्र कविता भगत ने विभागीय योजनाओं की जानकारी देते हुए अवगत कराया कि जिले में परंपरागत कलाओं की अनेक संभावनाएं हैं। केन्द्र सरकार द्वारा हस्तशिल्प कला को प्रोत्साहन के लिए अनेक योजनाएं संचालित की गई है, कोरोना महामारी के
कारण स्थानीय लोग जो जिले से बाहर रोजगार करते थे,
और इस लॉक डाउन में वापस आ गए थे उन्हें जिले में
स्वरोजगार एवं रोजगार से जोड़े जाने के लिए मुख्यमंत्री
स्वरोजगार योजना से लाभान्वित किया जा रहा है। जिले में योजनान्तर्गत लक्ष्य से अधिक लोगों को लाभ प्रदान किया गया है।
इस अवसर पर अध्यक्ष जिला पंचायत दीपिका बोहरा,अध्यक्ष नगर पालिका राजेन्द्र रावत,अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक मनोज सामन्त, प्रदेश कार्यकारिणी समिति भाजपा महेन्द्र लुंठी, राकेश देवलाल, महामन्त्री भाजपा बी०एल० जोशी, अपर जिलाधिकारी फिंचा राम चौहान, पुलिस क्षेत्राधिकारी अनिल मनराल समेत विभिन्न जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, उद्यमियों के अतिरिक्त अन्य उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!