पिथौरागढ़

पिथौरागढ़: सचिव कार्मिक अरविंद ह्यांकी ने की विकास कार्यों एवं आपदा पुर्ननिर्माण कार्यों की समीक्षा

सचिव कार्मिक अरविंद ह्यांकी ने की विकास कार्यों एवं आपदा पुर्ननिर्माण कार्यों की समीक्षा

पिथौरागढ़-

जनपद भ्रमण पर पहुॅचे सचिव कार्मिक अरविंद सिंह ह्यांकी द्वारा लोक निर्माण विभाग निरीक्षण भवन में जिलाधिकारी एवं जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले में संचालित विकास कार्यों एवं आपदा पुर्ननिर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए जानकारी ली गई।

सचिव कार्मिक ने कहा कि मानसून काल में आपदा से जो भी सरकारी परिसंपत्तियों का नुकसान हुआ है उनके पुर्ननिर्माण का कार्य यथाशीघ्र किया जाय। इन कार्यों को गुणवत्ता से करते हुए आगामी मानसून काल से पूर्व करना सुनिश्चित करें। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि प्रत्येक निर्माण कार्य की लगातार मोनिटरिंग उच्चाधिकारी स्तर पर कराई जाय।

उन्होंने कहा कि आपदा के कार्य स्थाई एवं गुणवत्त युक्त होने चाहिए। सिंचाई विभाग की समीक्षा के दौरान सचिव कार्मिक ने सिंचाई विभाग को निर्देश दिये कि जिले में सभी नदी किनारे जितनी भी बसासत रहती हैं उनकी नदी से सुरक्षा के लिए एक दीर्घकालिक प्रस्ताव तैयार करते हुए प्रस्ताव शासन को भेजें ताकि नदी से सुरक्षा हेतु कार्य किया जा सके।

उन्होंने कहा कि कार्यों को सम्पन्न कराए जाने में अगर मानकों में परिवर्तन करने की आवश्यकता है तो उसे भी शासन को भेजा जाय उन्होंने गत मानसून काल में कालीनदी किनारे घटखोला एवं अन्य स्थानों में हुए नुकसान तथा भुकटाव की रोकथाम की समीक्षा करते हुए धनराशि प्राप्त होते ही कार्यों को तेजी से करे साथ ही उन्होंने धारचुला के घटखोला,एलधार समेत विभिन्न स्थानों में हो रहे भारी भूस्खलन की रोकथाम हेतु भी सर्वेक्षण कर उसके अनुप प्रस्ताव शासन को भेजने के निर्देश दिये।

बैठक में अधीक्षण अभियंता सिंचाई विकास श्रीवास्तव ने अवगत कराया कि सिचाई विभाग के द्वारा मानूसनकाल में कुल 76 आपदा निर्माण के प्रस्ताव तैयार किए थे जिनमें से 12 के प्रस्ताव नाबार्ड में भेजे गए है शेष 64 के प्रस्ताव तैयार किए जा रहे है जो शीघ्र ही तैयार हो जाएंगे।

बैठक में सड़कों कि स्थिति एवं बंद सड़क मार्गों को खोले जाने हेतु की जा रही तैयारियों की समीक्षा के दौरान सचिव कार्मिक ने तवाघाट से कज्योयी दर सोबला-दारमा एवं थानीधार मोटर मार्ग को प्राथमिकता के तहत शीघ्रता से खोलने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि तवाघार- थानीधार मोटर मार्ग को शीघ्र ही संचालित किया जाय ताकि दारा चौरास क्षेत्र के लोगों को वैकल्पिक तौर पर इस सड़क का भी लाभ मिल संके।

बैठक में लोक निर्माण विभाग से आए अधिकारियों द्वारा अवगत कराया कि मानसनकाल में इतनमान के कुल 78 कार्यों की डीवीआर बनाई गई थी, जिनमें से 33 कार्य पूर्ण हो गए हैं। सचिव ने लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि सड़क मार्गों में जो भी कार्य करना है उन्हें प्राथमिकता के तहत पूर्ण किया जाय, उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि आपदा पुर्ननिर्माण एवं सुरक्षा के कार्यों हेतु अतिरिक्त

धनराशि की जितनी भी आवश्यकता है उसके प्रस्तात शीघ्र ही शासन को भेजें,तथा आपदा के निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण व सत्यापन क्षेत्र के उपजिलाधिकारी के माध्यम से कराए जाय।
बैठक में जिलाधिकारी डा० आशीष चौहान प्रभागीय वनाधिकारी विनय कुमार भार्गव, एडीएम फिंचा राम चौहान समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!