पिथौरागढ़

पिथौरागढ़ में बाल प्रहरी और बीजीवीएस की पांच दिवसीय कार्यशाला संपन्न

पिथौरागढ , 10 जून 2022

पिथौरागढ़ में बाल प्रहरी और बीजीवीएस की पांच दिवसीय कार्यशाला संपन्न

54 बच्चों ने बनाई हस्तलिखित पुस्तकें

‘मोबाइल टन टनटाटन’ नाटक रहा खास आकर्षण

हस्तलिखित पत्रिका ‘पिथौरागढ़ दर्पण’ और ‘दीवार पत्रिका’ का विमोचन

बाल कवि सम्मेलन में बच्चों ने पढ़ी कुमाउनी व हिंदी की स्वरचित कविताएं

पिथौरागढ़। जिला मुख्यालय के सरस्वती देवसिंह राजकीय इंटर कॉलेज में बाल पत्रिका बाल प्रहरी और भारत ज्ञान विज्ञान समिति के संयुक्त तत्वावधान में पांच दिवसीय बाल लेखन कार्यशाला का आज प्रमाणपत्र वितरण समारोह के साथ समापन हो गया है।

समापन समारोह में मौजूद बच्चों की रचनाधर्मिता ने सभी अभिभावकों और अतिथियों को आत्ममुग्ध कर दिया। इसमें कई बच्चे विशिष्ट श्रेणी के थे और कार्यशाला के दौरान मिले प्रशिक्षण से उनको खासा लाभ मिला।

सरस्वती देवसिंह राजकीय इंटर कॉलेज के कार्यवाहक प्रधानाचार्य बहादुरसिह बिष्ट की अध्यक्षता में संपन्न समारोह में सबसे पहले अतिथियों ने सारे बच्चों को बैज लगाए। उसके बाद बच्चों ने कार्यशाला में औरेगैमी के तहत अखबार से बनाए मुकुट मुख्य शिक्षा अधिकारी अशोक जुकरिया, जिला शिक्षा अधिकारी दिनेश चंद्र सती एवं अन्य सभी अतिथियों व अभिभावकों को स्वनिर्मित मुकुट भेंट किए। शिक्षक व साहित्यकार रमेशचंद्र जोशी द्वारा संपादित हस्तलिखित पत्रिका ‘पिथौरागढ़ दर्पण’ तथा काजल द्वारा संपादित –

‘दीवार पत्रिका’ का लोकार्पण जिला शिक्षा अधिकारी दिनेश चंद्र सती द्वारा किया गया। उन्होंनेन बच्चों की प्रस्तुति की सराहना करते हुए कहा कि बच्चे बहुत कुछ जानते हैं बस उन्हें अवसर दिए जाने की जरूरत है। विशिष्ट अतिथि साहित्यकार जनार्दन उप्रेती ने बच्चों द्वारा प्रस्तुत कुमाउनी व हिंदी कविताओं की प्रस्तुति व नुक्कड़ नाटक की प्रशंसा की। उन्होंने बच्चों को कविता भी सुनाई। समूचे कार्यक्रम का संचालन जे बी मैमोरियल मानस एकैडमी की कक्षा 8 की छात्रा वर्षा भट्ट ने किया।

इस अवसर पर 54 बच्चों द्वारा कार्यशाला में तैयार बालप्रहरी, बाल मुस्कान, बाल स्वर, बालिका स्वर, मेरी पुस्तक, खुशी की झंकार आदि नामों से तैयार हस्तलिखित पुस्तकों की प्रदर्शनी विशेष आकर्षण का केंद्र रही। साहित्यकार महेश पुनेठा के निर्देशन में तैयार नुक्कड़ नाटक ‘मोबाइल टन टनाटन टन’ में बच्चों ने संदेश दिया कि मोबाइल के आज के दौर में जहां हम देश दुनिया से जुड़ गए हैं वहीं घर में किसी के पास एक दूसरे से बात करने का समय नहीं है। यह नाटक बच्चों और उनके अभिभावकों के लिए एक जागरूकता संदेश दे गया।

 

बच्चों के दो समूहों ने ‘ज्ञान का दीया जलाने’ तथा ‘मैं तुमको विश्वास दूं’ समूह गीत प्रस्तुत किया।

मानस एकैडमी पिथौरागढ़ के चेयरमैन डॉ अशोक कुमार पंत के सौजन्य से बच्चों को प्रमाण पत्र मुख्य अतिथि द्वारा दिए गए। कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय गंगोलीहाट की वार्डन सुश्री रेनू साह के सौजन्य से बच्चों को जलपान कराया गया। समापन समारोह में कार्यशाला के संयोजक रमेशचंद्र जोशी ने सभी का आभार किया।

इससे पूर्व भारत ज्ञान विज्ञान समिति उत्तराखंड के उपाध्यक्ष व राजकीय हाईस्कूल बिण के प्रधानाचार्य नीरज पंत ने सभी का स्वागत किया। कार्यशाला में सरस्वती देवसिंह राजकीय इंटर कॉलेज, मानस एकैडमी, राजकीय कन्या जूनियर हाईस्कूल मंडप, राजकीय जूनियर हाईस्कूल तिलढुकरी, राजकीय बालिका इंटर कालेज ऐंचोली, द एक्सीलेंस फाउंडेशन पब्लिक स्कूल बिण, न्यू वीर शिवा स्कूल तथा केंद्रीय विद्यालय पिथौरागढ़ के 54 बच्चों ने प्रतिभाग किया।

इस अवसर पर मुख्य शिक्षा अधिकारी अशोक जुकरिया, इंटर कालेज बासोट की प्रधानाचार्या कुसुम भट्ट, बाल कल्याण समिति के सदस्य जगदीश कलौनी, रेखा रानी, कमल सिंह कार्की, हेम पंत, हरीश पांडेय,महेश चंद्र पुनेठा, उदय किरौला, दीप्ति मिश्रा, अजरा जुनैद, परमेश्वरी शर्मा, पंकज भट्ट, गीता पंत, शांति पंत, इस्लाम हुसैन, नवीन जोशी, भुवन चंद्र पांडे आदि उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!