देहरादून में 70 वर्षीय प्रोफ़ेसर महिला युवक को शारीरिक संबंध बनाने के लिए करती थी परेशान, युवक ने की महिला प्रोफेसर की हत्या

देहरादून में 70 वर्षीय प्रोफ़ेसर महिला युवक को शारीरिक संबंध बनाने के लिए करती थी परेशान, युवक ने की महिला प्रोफेसर की हत्या

महिला प्रोफेसर की हत्या का पुलिस और एसओजी टीम ने 48 घंटे में खुलासा कर दिया है। पुलिस ने महिला प्रोफ़ेसर की हत्या करने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया गया। युवक ने बताया कि महिला प्रोफ़ेसर ने उस युवक को शारीरिक संधन बनाने के लिए हमेशा परेशान करती रहती थी।

सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि 9 सितंबर को डोईवाला कोतवाली अठूरवाला सुनार गांव में प्रोफ़ेसर पुतुल घोष जो कि प्रोफ़ेसर पद से रिटायर हो चुकी थी और यही पे अपना घर बना कर अपनी बेटी के साथ रहती थी। उनके घर में ही उनकी हत्या कर दी गई बताया जा रहा है पुतुल घोष पश्चिम बंगाल कोलकाता की रहने वाली थी और उनकी उम्र 70 वर्ष बताया जा रहा है। पुतुल घोष की हत्या के बाद पुलिस भी आश्चर्य में पड़ गया कि कैसे पुतुल घोष की हत्या उनके घर में ही हो गई। इस गुत्थी को सुलझाने में पुलिस को लगभग 48 घंटे लगे और पुलिस ने इस गुत्थी को सुलझा ही लिया। पुलिस को पुतुल घोष की हत्या का सारा सबूत मिल गया तब पुलिस तनुज निवासी सुनार गांव अथूरवाला को तुरंत ही गिरफ्तार कर लिया।

आगे पढ़े ओएसडी उर्बा दत्त भट्ट की बेटी और साली कोरोना संक्रमित पाई गई, वही पत्नी वर्षा भट्ट की कोरोना से मौत

आस-पड़ोस के लोगों से जब इस हत्याकांड के बारे में पूछा गया तो उन लोगों ने बताया कि रिटायर प्रोफ़ेसर और तनुज का एक दूसरे के यहां बहुत दिनों से आना जाना लगा हुआ था। और ये दोनों एक दूसरे से घर के साथ-साथ बाहर भी मिला करते थे। इस हत्या का खुलासा होने के बाद आरोपित को कोतवाल सूर्य भूषण नेगी, वरिष्ठ उप निरीक्षक महावीर सिंह रावत और एसओजी टीम ने शहीद द्वार जौलीग्रांट क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया।उसके बाद जब आरोपित तनुज से पूछताछ कीया गया तो उसने बताया कि महिला उसपर शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव बनाती रहती थी। तनूज ने बताया की वो अपने समाज में बदनामी के डर के कारण रिटायर्ड प्रोफेसर की हत्या का मन बना लीया था।

आगे पढ़े उत्तराखंड के रायपुर में एक लड़की का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म कर,..

तनुज ने इस हत्याकांड के बारे में बताया कि वो नौ सितंबर को महिला के घर में घुसा उसके बाद तनुज ने कहा कि सबसे पहले वो प्रोफ़ेसर महिला के हाथ और पैर दोनों को बांधकर फिर डंडे से उसके सर पर मार कर हत्या कर दिया।

रिटायर प्रोफ़ेसर महिला की हत्या का खुलासा करने में ये सभी लोग शामिल थे।

बताया जा रहा है कि रिटायर्ड प्रोफेसर की हत्या का खुलासा ये सभी लोगो ने मिलकर 48 घंटे में कर दिऐ।डोईवाला कोतवाल सूर्य भूषण सिंह नेगी, निरीक्षक एसओजी ऐश्वर्या पाल, वरिष्ठ उप निरीक्षक महावीर सिंह रावत, शांति प्रसाद चमोली, कुलवंत सिंह, ज्योति सिंह, कपिल यादव, देवेंद्र नेगी, शशिकांत, विकास कुमार, भारत सिंह, प्रमोद कुमार, ललित कुमार, देवेंद्र कुमार, रविंद्र टम्टा, चंद्र मोहन सिंह, दीक्षा सैनी शामिल रहे।

आगे पढ़े उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शहीदों को याद करते हुए, पाँच  सुझाव दिए जाने

Related posts

Leave a Comment