उत्तराखंड में 12961 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए, 164 लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो गई 

corona news uttarakhand

देहरादून:  जैसा कि हम सभी देख रहे हैं कोरोना वायरस का कहर हमारे पूरे देश में फैला हुआ है थमने का बिल्कुल ही नाम नहीं ले रहा है लेकिन ऐसी खबर उत्तराखंड से आ रही है जहां पर कोरोना वायरस थमने का नाम ही नहीं ले रहा है दिन प्रतिदिन बढ ही रहा है। मंगलवार को  कोरोना संक्रमण के 497 नए मामले आए हैं। इसमें से ज्यादातर मामला कोरोना के उधम सिंह नगर से आ रही है।यहां 105 लोग संक्रमित पाऐ गए है। वहीं पर अब उत्तराखंड में कोरोना वायरस के कुल मामले 12961 पर पहुंच गया है।

उत्तराखंड में डॉक्टरों के  अनुसार मंगलवार को अलग-अलग लैब से 5897  सैंपलों की जांच किया गया है। जिसमे से 5399 सैंपल निगेटिव  पाया गया और 105 लोगों का सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाया गया जोकि उधम सिंह नगर के रहने वाले थे  देहरादून में 99 लोग कोरोना के चपेट में आ गए हैं उसके बाद नैनीताल में भी 58 केस पुराना के पाए गए हैं हरिद्वार में 68 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए इसके बाद  टिहरी में 42 पावर विंडो और 39 लोग कोरोना पॉजिटिव पाऐ गए है। बागेश्वर में 10, अल्मोड़ा में चार और पिथौरागढ़ और रुद्रप्रयाग में एक-एक लोग कोरोना संक्रमित पाऐ गए है। 

उत्तराखंड में लगभग 239 मरीज coronavirus  से स्वस्थ हो चुके है 

 उत्तराखंड में मंगलवार को लगभग 239 मरीज कोरोनावायरस से ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर आ चुके हैं  जिसमें बताया जा रहा है कि 117 मरीज उधम सिंह नगर के थे इसके अलावा देहरादून के 56 मरीज नैनीताल के 29 और 3 से 17 अल्मोड़ा से 10 पौङी  से थे। चमोली और रूद्रप्रयाग से दो-दो मरीज डिस्चार्ज हुए हैं। इन सब को मिलाकर उत्तराखंड से लगभग अब तक 8724 मरीज ठीक होकर अपने घर चुके हैं।     उत्तराखंड में कोरोवायरस से ठीक होने वाले का रिकवरी रेट 67.31 फीसद बताया जा रहा है।

 कोरोनावायरस के कारण उत्तराखंड में चार और मरीजों की मौत हो गई 

उत्तराखंड में कोरोनावायरस से मरने वाले व्यक्ति की  संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है खबर सामने आ रही है कि अब तक उत्तराखंड में 164 मरीज  की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस के कारण मंगलवार को भी चार मरीजों की मौत  हो गई । इनमें तीन मामले एम्स ऋषिकेश से है उसके बाद हरबर्टपुर की रहने वाली 31 वर्षीय महिला को 15 अगस्त को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उस महिला को महिला को कुछ दिनों से सांस लेने में तकलीफ हो रही थी साथ में खांसी बुखार और कमजोरी की शिकायत भी थी। महिला हाइपरटेंशन और  किडनी की समस्या से भी ग्रसित थी। बताया जा रहा है कि लगभग महिला 2 सालों से डायलिसिस पर थी। उसके बाद मोतीनगर के रहने वाले 57 वर्षीय व्यक्ति को 10 अगस्त को सांस लेने में तकलीफ और खांसी की शिकायत थी जिसको आता अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया था। लेकिन सही ढंग से इलाज न होने के कारण मंगलवार को  उनकी मौत हो गई। उसके सिवा बीएचईएल, हरिद्वार के रहने वाले एक 61 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत कोरोना वायरस के कारण ही हो गए लेकिन बताया जा रहा है कि उस व्यक्ति को पहले से ही डायबिटीज, हाइपरटेंशन और पीलिया के साथ किडनी में जख्म भी था।

आगे पढ़े : हल्द्वानी – लालकुआं हाईवे की दुर्दशा को देखते हुए कांग्रेसियों ने सङक पर धान रोपकर दिखाया

Related posts

Leave a Comment